इंडिया ग्लोबलाइजेशन कैपिटल के खनन व खनिज पदार्थ विभाग ने ल©ह अयस्क के निर्यात के लिए आवश्यक तैयारी पूरी की।

 बेथेस्टा, एमडी. 22 मई। पीआर न्यूजवायर – एशियानेट।
 चीनी कंपनियों के साथ आपूर्ति अनुबंधों में प्रवेश करना आरंभ किया
 भारत में तेजी से विकसित होती अधिसंरचना उद्योग में उभरती कंपनी इंडिया ग्लोबलाइजेशन कैपिटल ने घोषणा की है कि इसका पहला न©कायन केन्द्र भारत के खदानों से निकले ल©ह अयस्क को विश्वभर के ग्राहकों को निर्यात करने के लिए तैयार है अ©र उसने चीन की कंपनियों के साथ आपूर्ति अनुबंधों को सकार करना आरंभ कर दिया है।
 इसतरह की घोषणा पहले भी 7 मई 2009 को संपन्न संवाददाता सम्मेलन में की गई थी।
 विज्ञप्ति में रेखांकित किया गया है कि इंडिया ग्लोबलाइजेशन कैपिटल ने अपने व्यवसायिक नमूने को विस्तार दिया है।

 व्यावसायिक नमूने को भारी निर्माण अ©र सडक निर्माण से विस्तार देकर इसने खनन अ©र खनिज पदार्थों के व्यवसाय को समेट लिया है। हमारा आरंभिक जोर भारत अ©र विदेश में तेजी से विकसित होती अधिसंरचना उद्योग को र©क एग्रीगेट अ©र ल©ह अयस्क की आपूर्ति करने पर रहा है।
 हमने अपना निजी न© परिवहन केन्द्र भारत के पूर्वी तट पर भारत के एक प्रमुख बुनियादी बंदरगाह कृष्णापटनम बंदरगाह पर बनाया है। यह केन्द्र हमारे लिए वैश्विक निर्यात व्यवसाय का दरवाजा खोलने का काम करेगा। केन्द्र हमारे उत्पादन अ©र वितरण सक्षमताओं को गति प्रदान करेगा अ©र अयस्कों को निर्यात करने के पहले छोटे आपूर्तिकर्ताओं से लेकर एकत्र्ा करने में हमारी सहायता करेगा। हमने ल©ह अयस्कों की आपूर्ति के लिए भारत के खदानों के साथ भी अनुबंध किए हैं।
 कार्यकारी पूंजी अ©र उधार की सुविधाओं के लिए हमने भारत के एक निजी बैंक के साथ मिलकर बैंकिंग की सुविधाएं भी प्राप्त की हैं अ©र हमने शुरुआती रूप से दो चीनी कंपनियों के साथ आपूर्ति अनुबंध किए हैं।
 मिनरल इफोरमेशन इस्टीच्यूट के अनुसार करीब 98 प्रतिशक ल©ह अयस्क का इस्तेमाल इस्पात बनाने में किया जाता है जो विश्वभर में अधिसंरचना उद्योग का महत्वपूर्ण अंग है।
            इंडिया ग्लोबलाइजेशन कैपिटल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी राम मुकुंद ने कहा कि‘‘आज की घोषणा छह महीने की योजना अ©र तैयारी का नतीजा है जो हमारे व्यावसायिक योजनाओं को सडक, पुल अ©र उच्चपथों के निर्माण कार्य से विस्तार देकर र©क एग्रीगेट अ©र ल©ह अयस्क समेत निर्माण समाग्रियों की आपूर्ति में बदलने के साथ जुडी है।
              निर्यात केन्द्र का समावेश अ©र उससे संबंधित कार्यकलाप हमारे खनन अ©र निर्माण समाग्री व्यवसाय के संपूरक होंगे अ©र अपेक्षा की जाती है कि यह हमारी राजस्व आमदनी तथा मुनाफे में लघु व दीर्घ मियादी स्तर पर बढोतरी प्रदान करेंगे।’’
             अग्रणी अंतर्राष्ट्रीय बाजार शोध संस्थान-रीसर्च अ©र मार्केट के वरिष्ठ शोध प्रबंधक ल©रा वुड ने 27 फरवरी 2009 को प्रकाशित रायटर के आलेख में कहा है कि ‘‘भारत के आर्थिक विकास में एक प्रमुख तत्व साफ दिखता है।
              इसके भवन अ©र निर्माण उद्योग में उल्लेखनीय परिवर्तन हुआ है। भारत में भवन निर्माण सामग्री का मसला देश के निर्माण उद्योग का प्रमुख अंग है। अधिसंरचना अ©र निर्माण उद्योग के क्षेत्र्ा में ताजा विकास से संचालित होने से भवन निर्माण समाग्री के क्षेत्र्ा में पिछले कुछ वर्षों में उल्लेखनीय प्रगति दर्ज की गई है। इसके अलावा आर्थिक कार्यकलापों में भारत के प्रदर्शन अ©र प्रति व्यक्ति आमदनी में तेजी से बढोतरी से इस क्षेत्र्ा में तेज प्रगति का संकेत मिलता है। ’’
              आईजीसी के बारे मेंः-
              इंडिया ग्लोबलाइजेशन कैपिटल भारत में कार्यकलापों का संचालन करने वाली निर्माण अ©र सामग्री कंपनी है जो सडक, पुल अ©र उच्चपथों का निर्माण करती है अ©र भारत के अधिसंरचना उद्योग को निर्माण सामग्री प्रदान करती है।
              कंपनी के कार्यालय मेरीलैंड, मारिशस, नागपुर, कोचीन, दिल्ली अ©र बंगलोर में स्थित हैं। फार्म-3 की प्रतियां अ©र इंडिया ग्लोबलाइजेशन कैपिटल की ओर से एसइसी को समर्पित दस्तावेजों में इंडिया ग्लोबलाइजेशन कैपिटल के बारे में सूचनाएं दर्ज हैं।
              उन सूचनाओ, इंडिया ग्लोबलाइजेश कैपिटल के भारत में कार्यकलापों अ©र अन्य प्रासंगिक सूचनाओ बगैर किसी मूल्य के एसइसी के इंटरनेट साइट से प्राप्त किया जा सकता है।ः-
            :एचटीटीपी: डब्लूडब्लूडब्लू . एसइसी . जीओवीः
              इंडिया ग्लोबलाइजेशन कैपिटल के बारे में अधिक जानकारी के लिए कंपनी के वेबसाइट को देखेंः- डब्लूडब्लूडब्लू . इंडियाग्लोबलकैप . काम
              भविष्यमुखी वक्तव्यः
              इस विज्ञप्ति में शामिल कतिपय वक्तव्य भविष्यमुखी वक्तव्य हो सकते हैं। वैसे वक्तव्य प्रबंधन के वर्तमान विचारों को प्रकट करते हैं। उन वक्तव्यों के साथ अनेक ज्ञात अ©र अज्ञात जोखिम अ©र अनिश्चितताएं शामिल हैं जिनके कारण वास्तविक परिणाम भविष्यमुखी वक्तव्य में कही गई बातों,प्रक्षेपित कथनों अ©र उम्मीदों से अलग हो सकती हैं। जिन कारणों से वास्तविक परिणाम इनसे अलग हो सकते हैं, उनमें
ः1ः अनुबंधों अ©र व्यावसायिक योजनाओं को सफलतापूर्वक संपन्न करने की पक्षकारों की योज्ञता।:2ःअतिरिक्त पूंजी जुटाने अ©र उस पूंजी को संरचनागत ढंग से उपयोग करने की हमारी योज्ञता ।

            :3ःभारतीय रुपए अ©र अमेरीकी डालर के परिवर्तन दर में परिवर्तन होना कारण बन सकते हैं।
              हम किसी भविष्यमुखी वक्तव्य को अद्यतन बनाने की जिम्मेवारी स्वीकार नहीं करते। चाहे उसकी जरूरत किसी नई जानकारी, भविष्य में होने वाली किसी घटना या अन्य किसी कारण से उत्पन्न हो। अन्य कारण अ©र जोखिम जो वास्तविक परिणामों को भविष्यमुखी वक्तव्यों से अलग होने के जिम्मेवार हो सकते हैं या इसमें सहायक हो सकते हैं, उनके बारे में काफी विस्तार से चर्चा कंपनी के सुनिश्चयता सूचक वक्तव्य अ©र संपूरक दस्तावेजों में किया गया है। जिसे एसईसी को स©ंपे गए दस्तावेजों अ©र फार्म-3 के संदर्भ स्रोत के रूप में भी शामिल किया है।
              स्रोतः
              इंडिया ग्लोबलाइजेशन कैपिटल, इंक
              संपर्कः
              जान सेल्वराज आफ इंडिया ग्लोबलाइजेशन कैपिटल, इंक
              1 – 301 – 983 – 0998
              इंफोःएैटःइंडियाग्लोबलकैप . काम
             :ःआईजीसीः
एशियानेट: अमरनाथ