अंतरराष्ट्रीय स्तर पर परिवहन समुदाय को वैश्विक अर्थव्यवस्था में सुधार लाने के लिए परिवहन की मुख्य भूमिका प्रदान करने का पूरा भरोसा

 पेरिस एवं लिपजिग, 29 मई, पीआरन्यूजवायर- एशियानेट ।
 
 – जर्मनी के लिपजिग में आयोजित 2009 इंटरनेशनल ट्रांसपोर्ट फोरम के द©रान 52 परिवहन मंत्र्ाियों अ©र अ©द्योगिक प्रमुखों सहित पूरी दुनिया के 800 प्रतिनिधियों ने वैश्विक परिवहन के भविष्य पर चर्चा की ।
 वैश्विक अर्थव्यवस्था में आई गिरावट को देखते हुए आर्थिक विकास के लिए परिवहन प्रमुख भूमिका निभाएगा अ©र विश्व के आर्थिक भविष्य में नया विश्वास जगाने का काम करेगा । इसे लेकर वर्ष 2009 का इंटरनेशनल ट्रांसपोर्ट फोरम: आईटीएफ: सहमत है । फोरम के सचिवालय में बताया गया है कि जैसाकि तकरीबन सभी वैश्विक खतरे काफी मजबूत, मुख्यधारा से जुडे हुए अ©र असरकारक हैं, इसलिए परिवहन क्षेत्र्ा भी ज्यादातर वैश्विक चुन©तियों का सामना करेगा ।        

        फोरम के महासचिव जैक शार्ट ने कार्यक्रम की समीक्षा में कहा, ‘‘फोरम की जीवंत एवं सफल चर्चाएं हमारी उम्मीदों पर खरी उतरी हैं । गंभीर वित्त्ीय अ©र आर्थिक संकट के बावजूद अ©र इस संभावना को देखते हुए कि डाउनटाउन का प्रभाव ज्यादा लंबा नहीं चल सकता है, वैश्विक परिवहन समुदाय को पूर्ण विश्वास है कि परामर्श, आपसी सहयोग अ©र समन्वय के आधार पर यह कल के वैश्विक परिवहन के लिए बदलाव लाएगा । मुझ्ो पूरा भरोसा है कि फोरम 2009 वैश्विक परिवहन को साकार रूप प्रदान करने के लिए निर्णायक बुनियाद खडी करेगा अ©र आने वाले वर्षों के लिए यह वैश्विक अर्थव्यवस्था को प्रेरित करने में सहयोग करेगा ।’’
      ‘‘ट्रांसपोर्ट फार ए ग्लोबल इकनोमी: चैलेंजेज एंड अपरचुनिटीज इन द डाउनटाउन’’ नामक शीर्षक के तहत आज अंतरराष्ट्रीय परिवहन के लिए विश्व के प्रमुख प्लेटफार्म को इकट्ठा किया गया है । जर्मनी के लिपजिग में मंगलवार 26 मई से शुरू चार दिवसीय आईटीएफ में विश्व के 52 मंत्र्ाियों अ©र शीर्ष व्यापारिक प्रमुखों ने शिरकत की । वर्ष 2009 के फोरम की चर्चाएं अन्य विषयों के अलावा आर्थिक मंदी अ©र प्रोत्साहन पैकेज, संरक्षणवाद के खतरों अ©र स्थायित्व की चुन©तियों के अलावा परिवहन की वित्त्ीय सहायता तथा परिवहन श्रृंखला की विश्वसनीयता एवं सुरक्षा अ©र अंतरराष्ट्रीय सहयोग की जरूरत पर केंद्रित था ।

        आईटीएफ के अधिकारियों सहित वर्ष 2009 के इस फोरम की मेजबानी करने वालों में कई मंत्र्ाी शामिल थे जिनमें जर्मनी के परिवहन मंत्र्ाी वोल्फगैंग टिफेनसी, तुर्की के परिवहन मंत्र्ाी बिनाली यिल्दिरिम, 2009 फोरम के अध्यक्ष भी थे । इन सबने तकनीकी समाधानों के महत्व अ©र घनिष्ठ अंतरराष्ट्रीय सहयोग पर जोर दिया तथा आर्थिक रिकवरी प्रक्रिया को बढावा देने अ©र परिवहन क्षेत्र्ा की मदद के लिए अलग-अलग देशों की खास रणनीतियों का विरोध किया । यूरोप में अपनी पहली आधिकारिक उपस्थिति दर्ज करते हुए फोरम में शामिल होने वाले अमेरिका ने नए परिवहन मंत्र्ाी रे लाहुड ने अंतरराष्ट्रीय परिवहन में सहभागी बनने की अपने देश की प्रतिबद्धता को रेखांकित किया अ©र देश के प्रोत्साहन पैकेज के संदर्भ में अमेरिकी तीव्र गति रेल प्रणाली का विस्तार से वर्णन किया ।
      आम त©र पर बताया जाता है कि परिवहन प्रणालियां आज के द©र के मुताबिक कभी कारगर, स्वच्छ, सुरक्षित अ©र सस्ती नहीं रह गई हैं, इसके जवाब में आईटीएफ सचिवालय ने जोर देकर बताया कि अगर वैश्विक परिवहन व्यवस्था 21वीं सदी की आवश्यकताओं को पूरा कर भी देती है तो इन सभी मोर्चों पर सभी बडी चुन©तियां अभी बरकरार हैं ।    

          आर्थिक मंदी का विश्लेषण करते हुए फोरम में इस बात का निष्कर्ष निकाला गया कि गंभीर मंदी का असर, जिस वजह से परिवहन बाजार में 20 प्रतिशत की आश्चर्यजनक गिरावट आई है, जल्द ही खत्म नहीं होने वाला है । इसके मूल्यांकन के लिए दो वजहें बताई गईं: पहला, नीतियों के खतरे के कारण संरक्षणवाद या आर्थिक मजबूती के ल©टने से वित्त्ीय मध्यस्थता पर अत्यधिक पाबंदियां आर्थिक इंटरैक्शन के पूर्व संकट से बचाव हो सकता है । दूसरा, सर्वाधिक महत्वपूर्ण बात यह है कि यह संकट परिलक्षित हो सकता है अ©र वैश्विक असंतुलन को पाट सकता है, लेकिन अमेरिका तथा चीन के बीच विशिष्टता प्रदर्शित नहीं कर सकता । इसके अलावा कुछ संतुलन स्थापित हो जाने से तरक्की का व्यापारिक आदान-प्रदान कम हो सकता है जिस वजह से भविष्य का परिवहन कारोबार प्रभावित हो जाएगा ।
      पूरी दुनिया में प्रोत्साहन पैकेज पर उम्मीद कायम रखते हुए आईटीएफ ने निष्कर्ष निकाला कि इनमें से कई महत्वपूर्ण परिवहन वस्तुएं, अल्पावधि की परियोजनाएं, रखरखाव तथा अधोसंरचना के अपग्रेड कार्य के लिए विशेष रूप से उपयुक्त साबित हुई हैं, तेजी से रोजगार पैदा करने के लिए इन सभी चीजों की सख्त जरूरत है अ©र कई देशों में गंभीर रखर.खाव ब्लाकेज को सुधारना जरूरी है ।

            बाजार को कैसे खोलकर रखा जाए अ©र संरक्षणवाद से कैसे बचा जाए, इस पर चर्चा करते हुए फोरम में महसूस किया गया कि नियंत्र्ाण से आगामी आजादी अर्थव्यवस्था के लिए स्थायी प्रोत्साहन के त©र पर काम करेगी । लिहाजा परिवहन बाजार को अंतरराष्ट्रीय प्रतिस्पर्धा के लिए खोले जाने की जरूरत है जिसमें सभी प्रकार के अवसर म©जूद हों अ©र ये अवसर ज्यादातर क्षेत्र्ाों के लिए हों । हालांकि वैश्विक प्रतिस्पर्धा अ©र नियमन के मुद्ददे किसी एक संस्थान द्वारा नियंत्र्ाित नहीं बल्कि विशेष परिवहन मंत्र्ाालयों द्वारा नियंत्र्ाित किए जाते हैं । ऐसी स्थिति में आईटीएफ एक महत्वपूर्ण केंद्रक की भूमिका निभा सकती है ।
        स्थायित्व के मुद्ददों का मूल्यांकन करते हुए फोरम में इस बात पर भी जोर दिया गया कि जलवायु परिवर्तन के कारण आने वाली निरंतर चुन©तियों से भी रूबरू होना चाहिए । इस संदर्भ में परिवहन क्षेत्र्ा में स्थायित्व को आर्थिक प्रभावशीलता, सुरक्षा, सामाजिक प्रभाव अ©र पर्यावरण संरक्षणवाद में सुधार की जरूरत नहीं पडती है । तकनीकी विकास के लिए प्रोत्साहन अ©र आपरेटरों, उद्योग तथा ग्राहकों के लिए प्रोत्साहन प्रदान करने के आर्थिक उपाय को उत्सर्जन कम करना होगा अ©र इस लिहाज से यह केंद्रक की भूमिका में होंगे ।

      फोरम ने महसूस किया कि परिवहन क्षेत्र्ा की जरूरतों एवं उपलब्ध फंड के बीच ‘‘वित्त्ीय खाई’’ की चुन©ती से निपटने के लिए परिवहन को वित्त्ीय सहायता निरंतर देना जरूरी है । लंबे समय तक सार्वजनिक वित्त्ीय सहायता पर अगर जोर नहीं दिया गया तो यह खाई बढती ही चली जाएगी ।
        आपूर्ति श्रृंखला का विश्लेषण करते हुए फोरम ने महसूस किया कि आपूर्ति श्रृंखला के भविष्य का विकास उ?र्जा की कीमत अ©र कार्बन डाइआक्साइड जैसे बाहरी खर्च से जुडी कीमतों पर निर्भर करेगा लेकिन विश्वसनीय तमाम सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए इसकी क्षमता लगातार बढती जाएगी । इसमें इस बात पर भी जोर दिया गया कि सीमा पार अभी भी एक गंभीर समस्या बनी हुई है जिस वजह से देर भी होती है अ©र लागत भी बढती जाती है । आपूर्ति श्रृंखला से जुडे कई तरह के मुद्ददों के अलावा फोरम में इस बात को रेखांकित किया गया कि जोखिम आधारित नियमन को ऐसे क्षेत्र्ाों के संसाधनों पर लक्षित करना चाहिए जहां वे ज्यादातर मुनाफा अर्जित कर सकें जबकि कंटेनर स्कैनिंग जैसी प्रमुख चुन©तियों के मामले में ऐसे नियमन को बहुउद्ददेश्यीय अ©र लागत प्रभावी पहल पर आधारित किया जाना चाहिए ।                  

        एक उत्कृष्ट राष्ट्रीय तथा अंतर सरकारी कार्यक्रम के त©र पर फोरम आज के दिनों में तथा भविष्य में परिवहन द्वारा आवश्यक भूमिका निभाने को लेकर रणनीतिक विचार के लिए एक अनूठा अवसर प्रदान करता है । आईटीएफ निजी क्षेत्र्ाों तथा सार्वजनिक निकायों दोनों के नीति निर्धारण के लिए अवसर की पेशकश करती है ताकि रणनीतियों को क्रियान्वित किया जा सके अ©र राष्ट्रीय तथा अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कार्यवाही की जा सके । वर्ष 2009 के फोरम का मुख्य अंश एक पूर्ण सदस्य के रूप में फोरम आफ इंडिया को स्वीकार करना था । इसके अलावा चीन का भी इस वर्ष के फोरम में एक पर्यवेक्षक के त©र पर स्वागत किया गया ।
        वर्ष 2009 के मुख्य अंशों में जाने माने यूरोपीय अर्थशास्त्र्ाी अ©र लेखक जैक्स अताली, अमेरिकी परिवहन मंत्र्ाी रे लाहुड, यूरोपीय संघ के उपाध्यक्ष एंटोनियो तजाना द्वारा मुख्य अभिभाषण दिया जाना शामिल है । पैनल अ©र वर्कशाप में योगदान करने वाले व्यापारिक प्रमुखों के अलावा मुख्य कार्यकारी अधिकारी भी शामिल थे । इनमें टीएनटी के पीटर बेकर, अमीरात के टिम क्लार्क, ईजी ग्रुप के स्टेलियोज हेगजी-आयोनाउ, एयर बर्लिन के जोएचिम हनोल्ड, स्कैनिया के लीफ ओस्टलिंग, डीएचएल यूरोप एक्सप्रेस के स्काट प्राइस, नेप्चून ओरिएंट लाइंस के रान विडोज अ©र रूडिगर ग्रुब के नए मुख्य कार्यकारी अधिकारी द©त्शे बान शामिल थे ।

         अंतरराष्ट्रीय परिवहन फोरम 2010 ‘‘ट्रांसपोर्ट एंड इनोवेशन’’ कनाडा की अध्यक्षता के तहत लिपजिग में 25-28 मई 2010 को आयोजित किया जाएगा ।
       वेबकास्ट, इंटरव्यू, बैकग्राउंड पेपर्स, निष्कर्षों तथा वर्ष 2009 फोरम की तस्वीरों सहित विशेष जानकारी के लिए एचटीटीपी: डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू डाट इंटरनेशनलट्रांसपोर्टफोरम डाट ओआरजी पर जाएं ।
 संपर्क: माइकल जिरपेल
संचार निदेशक
इंटरनेशनल ट्रांसपोर्ट फोरम
कार्यालय:
पांचवीं मंजिल,
2-4 रू लुइस डेविड,
75016 पेरिस, फ्रांस
डाक पता:
ओईसीडी- आईटीएफ,
2 रू एंड्रयू पास्कल,
एफ- 75775 पेरिस केडेक्स 16
टेलीफोन: 33:0ः 1 45 24 95 96
सहायक:
टेलीफोन 33:0ः 1 45 24 95 88
फैक्स 33:0ः 1 45 24 13 22
माइकल डाट जिरपेल एट ओईसीडी डाट ओआरजी
एचटीटीपी: डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू डाट इंटरनेशनलट्रांसपोर्टफोरम डाट ओआरजी
स्रोत: इंटरनेशनल ट्रांसपोर्ट फोरम
पीआरन्यूजवायर- एशियानेट: रंजन