राष्ट्रीय कृषि विज्ञान अकादमी को सर्वश्रेष्ठ अमेरीकी विश्वविद्यालय के अध्यक्ष संबोधित करेंगे।

नई दिल्ली, 13 अगस्त। पीआर न्यूजवायर – एशियानेट ।
 ओहिओ स्टेट यूनिवर्सिटी के नेता ने नई दिल्ली भ्रमण के द©रान राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल से मुलाकता की।
 अमरीकी उच्च शिक्षा संस्थानों में सबसे बडे संस्थान के नेता द ओहिओ स्टेट यूनिवर्सिटी के अध्यक्ष ई.गोर्डेन गी भारत में व्यवसायों, सरकार अ©र उच्च शिक्षा में दीर्घकालिक व रणनीति साझ्ाीदारी की तलाश में हैं।
 गी ने बुधवार को राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल से मुलाकात की अ©र आज तीन बजे अपरान्ह में वे राष्ट्रीय कृषि विज्ञान अकादमी को संबोधित करेंगे।
 गी ने कहा कि ‘‘मैं यहां परामर्श मांगने आया हूं, समाधान बताने नहीं। ओहिओ स्टेट यूनिवर्सिटी इसे स्वीकार करता है कि वैश्विक समस्याओं का समाधान करने के लिए विश्वव्यापी विचार विमर्श में भारत को शामिल करना बेहद महत्वपूर्ण है।
 उन समस्याओं में कृषि, आर्थिक विकास अ©र स्वास्थ्यगत देखरेख से संबंधित मसले शामिल हैं। इन महत्वपूर्ण अंतराष्ट्रीय समस्याओं का समाधान करने में हमारे ज्ञान को आपस में जोडने का बेहतर परिणाम निकलेगा।’’
 गी ने भविष्य में होने वाली साझ्ाीदारी की बुनियाद रखने के लिए कोलंबस, ओहिओ से भारत की यात्र्ाा भारतीय मूल के अंतराष्ट्रीय कृषि विज्ञान नेता ओहिओ स्टेट प्रोफेसर रतन लाल के साथ की।
 राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल से मुलाकात करने अ©र राष्ट्रीय कृषि विज्ञान अकादमी को संबोधित करने के अलावा गी मंगलवार को भारतीय कृषि शोध संस्थान की ओर से कृषिक्षेत्र्ा में नेतृत्व के लिए एम.एस.स्वामीनाथन पुरस्कार प्राप्त करने में श्री लाल के साथ म©जूद रहे। वहां से श्री लाल ने विज्ञान में स्नातकोत्त्र की उपाधि प्राप्त की थी।
 गी ने आज टेक्नोलाॅजी भवन में विज्ञान अ©र तकनीक विभाग के साथ एक सहमति-पत्र्ा पर हस्ताक्षर भी किए। सहमति ओहिओ स्टेट अ©र विज्ञान व तकनीक विभाग द्वारा वैज्ञानिक शोध कार्यों हेतु भारत अ©र यूनिवर्सिटी के बीच सहयोग करने के लिए कार्यदल स्थापित करने के बारे में है।
 गी ने कहा कि हम भाज्ञशाली है कि ओहियो स्टेट के फैकल्टी अ©र छात्र्ाों में भारत के कुछ सर्वोत्त्म अ©र तीक्ष्णतम प्रतिभाएं म©जूद हैं। भारत के साथ यूनिवर्सिटी के संबंधों को आगे विस्तार देने के लिए यह स्वभाविक अगला कदम है। दोनों वहां अमेरीका अ©र यहां नई दिल्ली के अलावा अध्ययन अ©र शोध के अन्य प्रमुख भारतीय केन्द्रों के लिए भी यह महत्वपूर्ण है। मैं उम्मीद करता हूं कि इन प्रयासों से भारत भर में फैले ओहियो स्टेट के हजारों पूर्व छात्र्ाों की व्यस्तता बढेगी।’’
 गी ने कहा कि अमेरीका का सबसे बडा लैंड ग्रांट यूनिवर्सिटी के रूप में ओहियो कृषिगत मीशन के साथ स्थापित विशिष्ट अमेरीकी उच्च शिक्षा संस्थान है। उसकी की जिम्मेवारी न सिर्फ ओहियो की सेवा करना है, बल्कि वैश्विक समुदाय की सेवा करना भी है।
 गी ने कहा कि ‘‘ओहियो स्टेट अंतराष्ट्रीय समुदायों की प्रमुख समस्याओं का समाधान खोजने में एकांतिक भूमिका निभाने के लिए प्रतिबध्द है। हम स्वयं को विश्व का लैंड ग्रांड यूनिवर्सिटी मानते हैं।’’
 स्रोतः-
 द ओहियो स्टेट यूनिवर्सिटी
 संपर्कः
     जयदीप शेरगिल आफ हान्मेर एमएस एंड एल कम्यूनिकेशंस प्राइवेट लिमिटेड
        91 – 22 – 6752 – 4600 , 6633 – 5969
        91 – 98210 – 42514
        जयदीप:एैटः हान्मेरएमएसएल . काम ,
        जयदीप:एैटः हान्मेरपीआर . काम
        या
        क्रिस्टीन मैक देबुर आफ पाॅल वेर्थ एसोसिएटस
        फार द ओहियो स्टेट यूनिवर्सिटी
        1 – 614 – 224 – 8114
        केमैक:एैटः पाॅलवेर्थ . काम                  
एशियानेट: अमरनाथ