जूपिटर के नए अध्ययन के मुताबिक क्रेसटर:आरः से बुजुर्ग मरीजों में कार्डियोवैस्कुलर के आघात का खतरा कम रहता है

बार्सिलोना, 28 अगस्त, पीआरन्यूजवायर- एशियानेट ।
       जूपिटर अध्ययन के नए विश्लेषण से ज्ञात हुआ है कि क्रेसटर:आरः: रिवोल्यूशन: की 20 मिग्रा की खुराक निम्न से सामान्य कोलेस्ट्रोल स्तर अ©र एलिवेटेड हाई-सेंसिटिविटी सी-रिएक्टिव प्रोटीन: एचएसआरपी: वाले बुजुर्ग मरीजों में प्लेसबो की अपेक्षा कार्डियोवैस्क्युलर:सीवीः की बडी घटनाओं: मायोकार्डियल इन्फार्कशन, स्ट्रोक, आर्टेरियल रिवैस्क्युलराइजेशन, अस्थिर एंजीना के कारण हास्पिटलाइजेशन या सीवी की वजह से म©त जैसी घटनाएं: के समग्र प्राथमिक एंड प्वाइंट में कमी आती है । यह कमी 39 प्रतिशत: पी 0.001 से छोटा: तक देखी गई है । यह विश्लेषण 70 वर्ष या इससे उ?पर की आयु के 5,695 मरीजों पर किया गया । ये परिणाम प्राथमिक जूपिटर विश्लेषण में रोसुवेस्टैटिन लेने वाले सभी मरीजों में सीवी खतरे की कमी के रूप में देखा गया अ©र यह कमी बरकरार रही ।

         यह नया विश्लेषण आज स्पेन के बार्सिलोना में यूरोपियन सोसायटी आफ कार्डियोलाजी: ईएसजी: द्वारा आयोजित बैठक में पेश किया गया ।
      इस विश्लेषण के अतिरिक्त नतीजे क्रेसटर के जरिये उपचार की पुष्टि करते हैं:
      – कार्डियोवैस्क्युलर की वजह से होने वाली म©त, हृदयाघात अ©र स्ट्रोक का संयुक्त खतरा तकरीबन 40 प्रतिशत कम हो जाता है: प्लेसबो की तुलना में पी 0.004 के बराबर:
   – ह्दयाघात का खतरा 45 प्रतिशत: प्लेसबो की तुलना में पी 0.046 के बराबर: अ©र स्ट्रोक का खतरा 45 प्रतिशत: प्लेसबो की तुलना में पी 0.023 के बराबर: कम हो जाता है ।
      – आर्टेरियल रिवैस्क्युलराइजेशन या अस्थिर एंजीना के कारण अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत में 49 प्रतिशत: प्लेसबो की तुलना में पी 0.003 के बराबर: तक कम हो जाती है ।
      – प्लेसबो से जुडे उपचार के प्रभाव की तुलना आम त©र पर बुजुर्ग: 70 या उससे ज्यादा की उम्र के: अ©र युवा मरीज समूहों में की जाती है ।
    क्रेसटर में क्लिनिकल रिसर्च के एस्ट्राजेनेका के निदेशक माइकल क्रेसमैन ने कहा, ‘‘यह विश्लेषण इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि यह चिकित्सकों को एक अ©र सबूत पेश करता है ।                              

          उन्हें इस बात का प्रमाण मिल जाता है कि क्रेसटर से कार्डियोवैस्क्युलर रोग के उच्च स्तरीय खतरे वाले बुजुर्ग मरीजों में सीवी की बडी घटनाओं का खतरा आश्चर्यजनक रूप से कम हो सकता है । इसे जूपिटर के पूर्व प्रकाशित आंकडे में शामिल किया गया है जो दर्शाता है कि सिगरेट पीने वालों, हाइपरटेंसिव अ©र एलिवेटेड फ्रेमिंघम खतरे महसूस करने वाले मरीजों सहित उच्च जोखिम वाले मरीजों की संख्या के एक उपसमूह में रोसुवैस्टेटिन 20 मिग्रा के सेवन का उल्लेखनीय फायदा मिलता है ।’’
      अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन के वार्षिक वैज्ञानिक सत्र्ाों के द©रान नवंबर 2008 में मूल रूप से प्रस्तुत किए गए अ©र न्यू इंग्लैंड जर्नल आफ मेडिसीन द्वारा प्रकाशित जूपिटर के प्रारंभिक नतीजे दर्शाते हैं कि रोसुवैस्टेटिन 20 मिग्रा के सेवन से प्लेसबो:पी 0.00001 से कम: की तुलना में आश्चर्यजनक रूप से कार्डियोवैस्क्युलर: सीवी: की बडी घटनाएं: मायोकार्डियल इन्फार्कशन, स्ट्रोक, आर्टेरियल रिवैस्क्युलराइजेश का संयुक्त खतरा अ©र अस्थिर एंजीना के कारण हास्पिटलाइजेशन या सीवी की वजह से म©त जैसे घटनाएं: 44 प्रतिशत तक कम हो जाती हैं ।

         ये नतीजे यह भी बताते हैं कि रोसुवैस्टेटिन 20 मिग्रा का सेवन करने वाले मरीजों में हृदयाघात, स्ट्रोक या सीवी से होने वाली म©तों का संयुक्त खतरा तकरीबन आधा: 47 प्रतिशत, पी 0.00001 से कम: हो जाता है ।
       रोसुवैस्टेटिन 20 मिग्रा को जूपिटर अध्ययन के कोर्स के द©रान तकरीबन 9,000 मरीजों में बिल्कुल उपयुक्त पाया गया है । इनमें 2,878 मरीज 70 वर्ष की आयु या इससे उ?पर की उम्र वाले थे ।
      एस्ट्राजेनेका ने वर्ष 2009 के पहली अर्द्धवार्षिक अवधि में जूपिटर डाटा के साथ यूएस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन: एफडीए: में नियामक सबमिशन दायर किया है ।
      जूपिटर के बारे में:
 जूपिटर 17,802 मरीजों के दीर्घकालीन, यादृच्छ, दोहरे स्तरीय, प्लेसबो नियंत्र्ाित, बडे पैमाने का अध्ययन था जिसे यह निर्धारित करने के लिए कराया गया था कि रोसुवैस्टेटिन 20 मिग्रा निम्न से सामान्य एलडीएल-सी वाले मरीजों लेकिन उम्रदराज होने अ©र एलिवेटेड उच्च संवेदनशीलता के सी-रिएक्टिव प्रोटीन: एचएससीआरपी: से पीडित की पहचान किए जाने के कारण उनमें कार्डियोवैस्क्यूलर का अधिक खतरा वाले मरीजों में हृदयाघात, स्ट्रोक तथा कार्डियोवैस्क्युलर की अन्य बडी घटनाओं में कमी आती है या नहीं ।

         ज्यादातर मरीजों में एक अ©र रिस्क फैक्टर देखा गया जिसमें हाइपरटेंशन, लो एचडीएल-सी, कम उम्र में ही कोरोनरी हृदय रोग: सीएचडी: या ध्रूमपान जैसे फैक्टर शामिल थे । इस खतरे को बढाने वाला एचएससीआरपी एक मान्य मार्कर है जो एथरोसक्लेरोटिक कार्डियोवैस्क्युलर घटनाओं के बढते खतरे से जुडा हुआ है ।
        जूपिटर एस्ट्राजेनेका के विस्तारित गैलेक्सी क्लिनिकल ट्रायल प्रोग्राम का ही एक हिस्सा है  जिसे स्टैटिन शेध में महत्वपूर्ण अनुत्त्रित सवालों के जवाब देने के लिए तैयार किया गया है । फिलहाल वैश्विक स्तर पर 69,000 मरीजों की भर्ती गैलेक्सी प्रोग्राम में हिस्सेदारी के लिए की गई है ।
       क्रेसटर: रोसुवैस्टेटिन कैल्सियम: के बारे में:
पूर्व के अध्ययनों से ज्ञात हुआ है कि क्रेसटर महत्वपूर्ण रूप से एलडीएल-सी को कम करता है, इसने उभरते एचडीएल-सी पर महत्वपूर्ण प्रभाव छोडा है अ©र कार्डियोवैस्क्युलर रोग को रेखांकित करने वाले एक कारक एथरोसक्लेरोसिस के बढने की गति धीमा करता है ।
      क्रेसटर ने अब 95 से ज्यादा देशों में नियामक अनुमोदन हासिल कर लिया है । वैश्विक स्तर पर 1.70 लाख से ज्यादा मरीजों को क्रेसटर का सेवन करने की सलाह दी जा चुकी है ।

         क्लिनिकल ट्रायल अ©र दुनिया में इसके वास्तविक उपभोक्ता पर एकत्र्ाित किए गए आंकडे दर्शाते हैं कि क्रेसटर का सुरक्षित प्रोफाइल बाजार में उपलब्ध अन्य स्टैटिन के अनुरूप है ।
      एस्ट्राजेनेका के बारे में
 एस्ट्राजेनेका एक बडी अ©र अंतरराष्ट्रीय हेल्थकेयर कारोबारी कंपनी है जो स्वास्थ्य से जुडी सेवाओं के लिए शोध, विकास अ©र सार्थक प्रेस्क्रिप्शन दवाओं तथा आपूर्तिकर्ताओं का विनिर्माण एवं मार्केटिंग करती है । एस्ट्राजेनेका विश्व की प्रमुख फार्मास्यूटिकल कंपनियों में से एक है जिसकी स्वास्थ्य संबंधी उत्पादों की बिक्री 31.6 अरब डालर की है अ©र यह गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल, कार्डियोवैस्क्युलर, न्यूरोसाइंस, रेस्पायरेटरी, ओन्कोलाजी तथा संक्रमण रोगों की दवाओं के उत्पादन की अग्रणी कंपनी है । एस्ट्राजेनेका के बारे में अधिक जानकारी के लिए कृपया देखें
एचटीटीपी: डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू डाट एस्ट्राजेनेका डाट काम
स्रोत: एस्ट्राजेनेका
पीआरन्यूजवायर- एशियानेट: रंजन