व्यक्तिगत मूल्य बनाम वित्त्ीय उपलब्धि: एचएसबीसी ने इस संघर्ष में जीत दर्ज की

लंदन, 8 सितंबर, पीआरन्यूजवायर- एशियानेट ।
      आने वाले दिनों के लिए वित्त्ीय विज्ञापन अपेक्षाकृत अनुमानित रह गया है । बैंक हमसे यह आश्वासन पाने के लिए तीव्र विरोध कर रहे हैं कि वे सुरक्षित, मजबूत अ©र इन सबसे भी उ?पर अस्तित्व बनाए रखेंगे । जेडब्ल्यूटी लंदन द्वारा हाल ही में  एचएसबीसी के कराए गए टीवी कार्यक्रम में एक अलग परिदृश्य की पेशकश की गई है । इन नए कार्यक्रमों में हम पपराजो के व्यापक सेलेब्रेटी दायरे से लेकर मछुआरों के दैनिक संघर्ष तक गए हैं- दो ऐसे क्षेत्र्ा जो आपकी सोच से बिल्कुल अलग हैं ।
      मल्टीमीडिया प्रेस विज्ञप्ति देखने के लिए कृपया क्लिक करें:
एचटीटीपी: डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू डाट पीआरन्यूजवायर डाट काम, एमएनआर, एचएसबीसी, 39997
      यदि आपने हाल ही में किसी हवाई अड्डे का भ्रमण किया है तो आप यह ग©र करने से वंचित नहीं रहे होंगे कि एचएसबीसी लोगों के अलग-अलग मूल्यों को भांपने लगा है ।

        ये मूल्य हैं – जिम्मेदारी से लेकर विश्वास अ©र सुरक्षा से संबंधित । इन नए विज्ञापनों में एचएसबीसी ने अपनी अहम भूमिका को उजागर किया है कि ये मूल्य लोगों के वित्त्ीय फैसलों में अहम भूमिका निभाते हैं ।
        ‘इंटिग्रिटी’ के संदर्भ में हमने एक फोटोग्राफर पर ग©र किया जो एक सेलेब्रेटी की ऐसी जैकेट पर एकाग्रचित्त् था जिसे उसने अपनी ए-लिस्ट जीवनश्©ली की टैªपिंग के लिए उतार दिया था । हम उस पापराजो के व्यक्तिगत संघर्ष का गवाह बने जो ‘इंटिग्रिटी’ अ©र खराब वित्त्ीय फायदे के बीच सही चुनाव के लिए जूझ्ा रहा था । धनी अ©र प्रसिद्ध व्यक्तियों के जीवन के अंतरंग क्षण को भुनाना मीडिया के क्षेत्र्ा में आम बात हो गई है जहां निजता अब कोई रहस्य नहीं रह गया है । क्या हमारे नायक लाखों डालर की शूटिंग को त्याग देंग अ©र पुरस्कार को ठुकरा देंगे? शालीन अर्थों में देखा जाए तो ‘जिम्मेदारी’ किसी मछुआरे को चैंपियन बनाती है । समुद्री लहरों के बीच कई सप्ताह तक हिचकोलें खाने अ©र दयनीय स्थिति में रहने के बाद भी वह मूल्यवान मछलियों को पकडने के लिए अपने जाल समुद्र में फेंकता है । इसमें डाल्फिन भी आती हैं । मछुआरे की जिम्मेदारी की परख इसी में देखी जाती है कि वह डाल्फिन को वापस पानी में डालने के लिए अपने जाल को खोल देता है ।

       ‘जिम्मेदारी’ के दायरे में पर्यावरण संबंधी मुद्ददे को पूरी दुनिया के सरकारी तंत्र्ाों अ©र धर्मार्थ संगठनों के लिए वास्तव में बेहद चिंताजनक तरीके से दिखाया गया है । प्रत्येक वर्ष मछुआरों के जाल में फंसकर तकरीबन 300,000 डाल्फिन की म©त हो जाती है । ‘कैटासियन बाय-कैच’ से जूझ्ाती मानवीय समस्या पर केंद्रित होना ही एचएसबीसी की स्थायित्व मुद्ददे के प्रति दीर्घकालीन प्रतिबद्धता को प्रदर्शित करता है । ग्रुप चेयरमैन स्टीफन ग्रीन ने इसे इस तरीके से पेश किया है कि स्थायित्व ‘‘हमारे कारोबारी अभ्यिानों के केंद्र में है अ©र इस पद्धति के केंद्र में रहते हुए हम पूरी दुनिया में म©जूद अपने ग्राहकों के साथ मिलकर काम करते हैं ।’’ यह कार्यक्रम नैतिक फैसलों से एक साथ जूझ्ा रहे व्यक्तियों अ©र कारपोरेशन को आकर्षित करने के लिए आयोजित किया गया है ।
     दोनों फिल्में उन लोगों को नायक बनाती हैं जिन्होंने धन जुटाने के लिए किस तरह का चुनाव किया जाए, इसके लिए उन्होंने अपने निजी मूल्यों को लागू किया है । एचएसबीसी अपने ग्राहकों के जीवन में तथा उनके वित्त्ीय फैसलों में जिम्मेदारी तथा एकजुटता के महत्व को पहचानती है । छोटी-छोटी चीजों से लेकर समुद्री मछलियों तक हमारे मूल्य उस पद्धति को आकार प्रदान करते हैं ताकि हम अपने धन का प्रबंधन कर सकें ।

       एचएसबीसी मूल्यों पर अधिक जानकारी के लिए
कृपया देखें:
एचटीटीपी: डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू डाट एचएसबीसी डाट काम, 1,2,अबाउट, एडवार्टाइजिंग,
विभिन्न भाषाओं में वीडियो देखने केलिए कृपया संपर्क करें हीथर मैकक्रैकेन: हीथरमैकक्रैकन एट एचएसबीसी डाट काम:
स्रोत: एचएसबीसी
पीआरन्यूजवायर- एशियानेट: रंजन