इवांस्टोनआई , 30 अक्टूबर। पीआर न्यूजवायरएशियानेट।
पोलियो उन्मूलन के लक्ष्य को बनर्जी अपनी सर्वोच्च प्राथमिकता देंगे।
विश्व के विशालतम मानवकल्याणकारी संगठनों में एक रोटरी इंटरनेशनल : डब्लूडब्लूडब्लू. रोटरी . ओआरजी : के अध्यक्ष गुजरात, भारत के व्यावसायी कल्याण बनर्जी 1 जुलाई 2011 से होंगे।
अध्यक्ष के रूप में बनर्जी 200 से अधिक देशों और भौगोलिक क्षेत्रों के 12 लाख व्यावसायी और पेशेवरों के वैश्विक नेटवर्क का नेतृत्व करेगे जो स्वयंसेवी ढंग से विश्वभर के विभिन्न समुदायों की आवश्यकताओं को पूरा करने में सहायता प्रदान करते हैं।
बनर्जी 1972 से रोटरी के सदस्य हैं और इस अंतराष्ट्रीय संगठन के अध्यक्ष बनने वाले तीसरे भारतीय हैं।
उन्होंने कहा कि ‘‘मैं रोटरी का नेतृत्व इसके 101 वें अध्यक्ष के रूप में करने का अवसर मिलने से गौरवान्वित महसूस करता हूं। ’’ बनर्जी ने आगे कहा कि रोटरी की ताकत में समूचे विश्व से विभिन्न क्षेत्र के नेतृत्वकारी लोगों को आकषिर्त करने का सामथ्र्य के साथ ही शांति को प्रोत्साहित करने में इसकी भूमिका शामिल है।
उन्होंने कहा कि ‘‘रोटरी के लिए मेरा मकसद है कि वर्तमान पीढी इसकी सदस्यता ग्रहण करने और गतिविधियों में शामिल होने के लिए प्राथमिकता प्राप्त संगठन बनाना है जो विश्व को बेहतरी, सुरक्षित और आनंदप्रद बनाने के लिए सक्रिय हों।
अध्यक्ष के रूप में बनर्जी पोलियो उन्मूलन के रोटरी के अभियान की देखरेख करेगे जो बेहद क्षतिकारक और संभावित रूप से मरणात्मक रोग है। यह आज भी भारत समेत एशिया और अफ्रीका के बच्चों के लिए बडा खतरा बना हुआ है।
विश्वभर में फैले रोटरी क्लब के सदस्य 1985 से आज तक 80करोड डालर से अधिक का सहयोग राशि एकत्र किया है और स्वयंसेवी कार्य के अनगिनत घंटे व्यतीत किए हैं।
 
इसके अतिरिक्त रोटरी अभी 20 करोड डालर और एकत्र करने के प्रयास में जुटा है जिससे यह बिल एंड मेरिंन्दा गेट्स फाउंडेशन के अनुदान की समतुल्य रकम प्रदान कर सके।
इस कार्य में काफी प्रगति हुई है और लकवाग्रस्त पोलियो के प्रसार को विश्वस्तर पर प्रतिरोध करने में उल्लेखनीय सफलता प्राप्त हुई है। इस रोग के 1988 में 3 लाख 50 हजार मामले सामने आए, जबकि 2008 में उनकी संख्या घटकर महज दो हजार रह गई।
पोलियो की महामारी से प्रभावित चार देशोंजिसमें अफगानिस्तान, नाइजेरिया और पाकिस्तान भी शामिल है, में प्रमुख भारत में पोलियो के खिलाफ संघर्ष रोटरी के स्वयंसेवकों के अथक प्रयास और 10 करोड 60 लाख डालर से अधिक की आर्थिक सहायता के बदौलत मजबूत बना हुआ है।
इसके अतिरिक्त, रोटरी की ओर से निरंतर राजनीतिक, नौकरशाही और धार्मिक प्रचार अभियानों के राष्ट्रीय, प्रादेशिक और जिला स्तरों पर संचालित किए जाने से भारत में इस कार्यक्रम का अविस्मरणीय प्रभाव पडा है।
दक्षिणपूर्व एशिया क्षेत्रीय पोलियोप्लस समिति के पूर्व अध्यक्ष और रोटरी के इंटरनेशनल पोलियोप्लस समिति के सदस्य के रूप में बनर्जी ने रोटरी के अनेक अवीन पहलकदमियों को प्रचारित किया है जिन्होंने भारत में पोलियो उन्मूलन कार्यक्रमों को नए ढंग से प्रोत्साहित किया है।
पोलियो उन्मूलन कार्यक्रम के बारे में अधिक जानकारी के लिए कृपया देखें:- डब्लूडब्लूडब्लू . रोटरी . ओआरजी , इंडपोलियो या डब्लूडब्लूडब्लू . पोलियोइरेडिक्शन . ओआरजी रोटरी विश्व का सबसे बडा निजी तौरपर प्राप्त कोष से संचालित अंतराष्ट्रीय छात्रवृत्ति कार्यक्रम को भी प्रायोजित करता है। इस कार्यक्रम के अंतर्गत रोटरी ने 1947 से 100 देशों के 38 हजार छात्रों को विदेशों में पढाई करने के लिए मोटेतौर पर 50 करोड डालर का योगदान किया है।
इन सांस्कृतिक एंबेसडरों ने विदेशों में अध्ययन के दौरान प्राप्त ज्ञान और कौशल का उपयोग अंतराष्ट्रीय समझदारी, आपसी विश्वास और शांति को प्रोत्साहित करने के लिए किया है।
रोटरी छह विभिन्न देशों के आठ अग्रणी विश्वविद्यालयों में शांति और संघर्ष निराकरण में अंतराष्ट्रीय अध्ययन के सात रोटरी केन्द्रांे को भी प्रायोजित करता है।
बनर्जी भारत के सबसे बडा कृषिरसायन निर्माता यूनाइटेड फास्फोरस लिमिटेड के निदेशक हैं और यूनाइटेड फास्फोरस :बांग्लादेश: लिमिटेड के निदेशक हैं।
वे इंडियन इंस्टीच्यूट आफ केमिकल इंजीनियर्स और अमेरीकन केमिकल सोसाइटी का सदस्य हैं। उन्हें वापी इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष और भारतीय उद्योग परिसंघ के गुजरात चैप्टर के पूर्व अध्यक्ष होने का गौरव प्राप्त है।
उन्होंने इंडियन इंस्टीच्यूट आफ टेक्नोलाजी, खडगपुर से केमिकल इंजीनियरिंग में स्नातक की उपाधि प्राप्त की है। बनर्जी और उनकी पत्नी बिनोता को दो संतान और चार पोतेपोतियां हैं।
स्रोत:- रोटरी इंटरनेशनल

 

संपर्क:- .सी.पीटर :भारत: 91 98 111 11833 पीटर . अराकाल :एैट: रेडिफमेल . काम बेंजामिन चेरियन:भारत: 91-44-24341079 बेंजामिन:एैट:राजिम्पेक्स . काम