एमडीजी के बारे में उच्चस्तरीय पूर्ण बैठक के लिए स्टाकहोम अधिघोषणा :‘हमारे उदेश्यों को जल की आवश्यकता’’

 
 
22/09/2010 3:58:51:663PM
 
 संपादक, यह विज्ञप्ति आपको एशियानेट के साथ हुई व्यवस्था के अंतर्गत प्रेषित की जा रही है
इसका कोई संपादकीय उत्तरदायित्व पीटीआई का नहीं है

स्टाकहोम, 10 सितंबर। पीआर न्यूजवायरएशियानेट
विश्व जल सप्ताह 2010 के भगीदारों ने सहस्राब्दी विकास लक्ष्य :एमडीजी: के बारे में उच्चस्तरीय पूर्ण बैठक से अनुरोध किया है कि वह जल संसाधन, पेयजल, जल और स्वच्छता के सभी के लिए उपलब्धता को पूरी मान्यता प्रदान करने और आधारभूत भूमिका अदा करे
स्टॉकहोम अधिघोषणा 2010 के संपूर्ण पाठ को डाउनलोड करें :-
http://www.worldwaterweak.org /speaches
यह सम्मेलन 20 से 22 सितंबर के बीच संयुक्त राष्ट्र साधारण सभा में होगी जिसमें संयुक्तराष्ट्र सहस्राब्दी सम्मेलन 2000 में स्वीकार किए गए लक्ष्यों को प्राप्त करने की दिशा में हुई उपलब्धियों की समीक्षा की जाएगी
उन लक्ष्यों में गरीबी भूखमरी, बीमारी, मातृ शिशु मृत्यु और अन्य समस्याओं को 2015 की समय सीमा में दूर करना शामिल है
स्टाकहोम इंटरनेशनल वाटर इंस्टीच्यूट :एसआईडब्लूआई: के कार्यकारी निदेशक एंडर्स बेर्नेटेल ने कहा कि ‘‘ सम्मेलन के प्रारुप में जल को जो स्थान मिलना चाहिए, वह स्थान अभी निश्चित रूप से नहीं मिल पाया है जबकि जल संसाधनों का बेहतर प्रबंधन और पेयजल स्वच्छता प्रदान करना सभी एमडीजी लक्ष्यों को पूरा करने की पूर्व शर्त है ।’’ स्टाकहोम अधिघोषणा 2010 के अनुसार, जल को एक सबसे महत्वपूर्ण सर्वव्यापी मसले के रूप में सम्मेलन में समाधान किए जाने वाले विषयों में शामिल किया जाना चाहिए इसे स्वीकार किया जाना चाहिए कि अधिक वित्तीय संसाधन और बेहतर प्रबंधन की तात्कालिक आवश्यकता है
स्टाकहोम में आयोजित विश्व जलसप्ताह 2010 में भागीदारों के मतदान से स्वीकृत अधिघोषणा में स्पष्ट रूप से उल्लेख किया गया है कि जल किसतरह से सभी एमडीजी लक्ष्यों को हासिल करने में केन्द्रीय तत्व साबित होता है
‘‘
जल और स्वच्छता का अभाव लोगों को गरीब बनाता है जल और स्वच्छता की अपर्याप्त उपलब्धता अरबों लोगों खासकर महिलाओं और लडकियों को अवसरों, सम्मान, सुरक्षा और कुशलक्षेम से वंचित करता है ’’ अधिघोषणा निष्कर्ष निकालता है कि स्वच्छता और जल केवल लक्ष्य या क्षेत्र नहीं है वे जीवन के बुनियादी आधार होते हैं और टिकाउ अर्थव्यवस्था और सामाजिक विकास के लिए अपरिहार्य होते हैं
अभी भी दुनिया में कुपोषण के आधे मामले खराब गुणवत्ता के जल के कारण होते हैं ।’’ स्टाकहोम में आयोजित विश्व जलसप्ताह के बारे में :- स्टाकहोम में आयोजित विश्व जलसप्ताह पृथ्वी के आवश्यक मसले जल से संबंधित विषयों पर होने वाला वाषिर्क सम्मेलन है इसका आयोजन स्टॉकहोम इंटरनेशनल वाटर इंस्टीटयूट : एसआईडब्ल्यूआई : करता है
यह दुनिया भर के 2500 विशेषज्ञों, पेशेवरों, निर्णय कर्ताओं और व्यावसायिक नवोन्मेषकारियों को एकत्रित करता है, जो अपने विचारों का आदान प्रदान करते हैं, नई सोच और सटीक समाधान को विकसित करते हैं
http://www.worldweak.org
 एसआईडब्लूआई के बारे में :- एसआईडब्लूआई एक नीति निर्माता संस्थान है जो विश्व के बढते जलसंकट का समाधान करने के अंतर्राष्ट्रीय प्रयासों में योगदान करता है एसआईडब्लूआई भविष्यन्मुख और ज्ञान केन्द्रीत नीतियों को विकसित और प्रोत्साहित करता है ताकि विश्व के जल संसाधनों का टिकाउ उपयोग हो सके जिससे टिकाउ विकास और गरीबी उन्मूलन किया जा सके
http://www.siwi.org
प्रेस सूचना :- प्रेस किट, आधारभूत तथ्यों, तस्वीरों और विडियों के लिए देखें :-