कृषि उत्पादनों का विश्व का सबसे बडा आयातकर्ता है यूरोपीय यूनियन, पर कृषिगत शोधकार्यों में निवेश के महत्व अनदेखी कर रहा है ।

कृषि उत्पादनों का विश्व का सबसे बडा आयातकर्ता है यूरोपीय यूनियन, पर कृषिगत शोधकार्यों में निवेश के महत्व अनदेखी कर रहा है ।
 
01/11/2010 3:26:09:853PM
 
बर्लीन, 13 अक्टूबर पीआर न्यूजवायरएशियानेट
कृषिउत्पादन के लिए जमीन की जरूरत में अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिता में नाटकीय बढोतरी जारी गरीब देशों में खाद्य वस्तुओं की स्थिति लगातार बिगडती जा रही है विश्व खाद्य दिवस के अवसर पर 16 अक्टूबर को विश्वभर में भूखमरी के शिकार लोगों की संख्या 92 करोड 50 लाख हो जाएगी
हमबोल्ड फोरम फार फूड एंड एग्रिकल्चर के अध्यक्ष हेराल्ड वोन वित्जके ने कहा कि ‘‘हर प्रकार से सर्वोत्तम परिस्थितियों की कल्पना करने के बाद भी दरिद्रतम देशों में आगामी वषरें में अपनी आबादी को खिलाने भर के लिए पर्याप्त खाद्य वस्तुओं के उत्पादन में विशाल अंतर बना रहेगा ’’ ‘‘तेजी से बढते इस अभाव को सिर्फ तभी पाटा जा सकता है जब अमीर देशों में अधिक खाद्य वस्तुओं का उत्पादन और निर्यात किया जा सके अभी तक यूरोपीयन यूनियन इस बढते संकट की ओर से आंखें बंद कर रखा है तत्काल कार्यवाई करने की अतिशय आवश्यकता होने के बावजूद इस महत्वपूर्ण मसले को मामूली या एकदम प्रचार नहीं मिलता है ।’’ वोन वित्जके को विश्वास है कि यूरोपीयन यूनियन कृषिगत शोधकार्यो में महत्वपूर्ण निवेश की उपेक्षा काफी लंबे समय से कर रहा है इसबीच, यह विश्व का सबसे बडा कृषि उत्पादनों का आयातकर्ता बन गया है
इसका मतलब है कि खाद्यपदाथरें, प्राकृतिक फाइबर, जैवउर्जा और अन्य कृषि उत्पादनों की अपनी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए यूरोपीयन यूनियन अन्य देशों में करीब 3करोड 50 लाख हेक्टेयर जमीन का खेती करने में उपयोग कर रहा है जो आकार में जर्मनी के समतुल्य ठहरता है
केवल पिछले दस वषरें में ही यूरोपीयन यूनियन का सकल आयात की वजह से इस वचरुअल कृषि भूमि का क्षेत्रफल एक करोड हेक्टेयर बढ गया है
वोन वित्जके ने कहा कि ‘‘यूरोपीयन यूनियन अपने क्षेत्र के बाहर विशाल वचरुअल भूमि क्षेत्र का उपयोगकर्ता बन गया है ।’’ उन्होंने रेखांकित किया कि ईयू द्वारा विदेशों में भूमि क्षेत्र के उपयोग में यह विस्तार वनांे के विनाश का कारण बन रहा है और इसतरह जलवायु परिवर्तन में योगदान करता है
‘‘
हमें निश्चित तौर पर सामुहिक रूप से मांग करनी चाहिए कि कृषिक्षेत्र में नवोन्मेषों और उच्च उत्पादनशीलता को लेकर यूरोपीयन यूनियन संपूर्ण प्रतिबध्दता का प्रदर्शन करे अगर हमें भूखमरी को समाप्त करना है, जलवायु परिवर्तन के खिलाफ खडा होना है और प्राकृतिक बसोवास को बनाए रखना है तो ऐसा करना बेहद महत्वपूर्ण है ।’’ एचएफएफए के बारे में :- हमबोल्ड फोरम फार फूड एंड एग्रिकल्चर वैश्विक कृषि के बारे में बर्लीन स्थित अग्रणी चिंतनसमूह है जिसके साथ विज्ञान, नागरिक समाज और उद्योग जगत के अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मान्यताप्राप्त विशेषज्ञों के अनूठे समूह को एकत्रित हैं
इसका उदेश्य वैश्विक खाद्य और कृषि के भविष्य के लिए वैज्ञानिक आधार वाले नीतिगत अनुशंषाएं करनी है
संपर्क :- प्रोफ. एच. सी. हेराल्ड वोन वित्जके हमबोल्ड फोरम फार फूड एंड एग्रिकल्चर .वी. एचवीवित्जके :एैट: एजीआरएआर डाट एचयूबर्लीन डाट डीई फोन :- 49-30-2093-6233 मोबाइल :- 49-177-400-1187