सीजीएपी ने दुनिया के गरीबों को समेटने के लिए मोबाइल बैंकिंग को विस्तार दिया ।

 
 
19/11/2010 12:10:21:927PM
 
वाशिंगटन, 17 नवंबर, 2010 पीआर न्यूजवायर बहुप्रशंसित मोबाइल और एजेंट बैंकिंग कार्यक्रम ने केन्या से लेकर फिलिपिन्स तक के गरीबों के पास पहली बार वित्तीय सेवाओं को पहुंचाया
सीजीएपी ने आज इस पध्दति को समूचे विश्व के अन्य लाखों लोगों के पास इसे पहुंचाने के लिए तीन वषरें की प्रतिबध्दतता की घोषणा की
बिल एंड मेलिंदा गेटस फाउंडेशन विश्वबैंक में स्थित स्वतंत्र माइक्रोफिनांस समूह सीजीएपी को विकासशील देशों में मोबाइल और एजेंट बैंकिंग को प्रोत्साहित करने के सीजीएपी के तकनीकी कार्यक्रम के अगले चरण की सहायता करने के लिए 60 लाख डालर का अनुदान दिया है
यह अनुदान 2006 में फाउंडेशन द्वारा दिए गए विशाल अनुदान के अतिरिक्त होने के साथसाथ यूके के अंतर्राष्ट्रीय विकास विभाग :डीएफआईडी: के 80 लाख पौंड के अनुदान के अतिरिक्त है जिसका वायदा मार्च में सीजीएपी तकनीकी कार्यक्रम की सहायता करने के लिए किया गया था
सीजीएपी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी टिल्मैन इहर्बेक ने कहा कि ‘‘अवधारणा काम करती है अब समय गया है कि इसे प्रयोगशाला से बाहर निकाले और मुख्यधारा में ले जाएं ।’’ ‘‘नवोन्मेषपरक सुपुदर्गी चैनलों के पास 27 अरब गरीब लोगों के पास पहुंचने की अपार संभावना है जिनकी वहनक्षम वित्तीय सेवाओं को प्राप्त करने की सुविधा नहीं है ।’’ सीजीएपी के तकनीकी कार्यक्रम का उदेश्य विभिन्न प्रकार की वित्तीय सेवाओं को विश्व के दरिद्रतम लोगों के पास पहुंचाने के लिए उनके विस्तार को संचालित करना है जिसमें लेनदेन का खर्च उल्लेखनीय रूप से कम हो
वैसी पध्दतियां कैसे संपूर्णता में कार्य कर सकती हैं, इसे प्रदर्शित करने के लिए यह अपना ध्यान लक्षित बाजारों पर केन्द्रीत करेगा, जबकि पध्दतियों के कारगर ढंग से कार्यरत रहना सुनिश्चित करने के लिए औद्योगिक जानकारी और 5यासों को सुधारने का काम भी करेगा
सीजीएपी का तकनीकी कार्यक्रम मोबाइल बैंकिंग के ग्राहकों को उपयुक्त सुरक्षा प्रदान करने के माध्यम से संतुलित विकास को सुनिश्चत करने के लिए उपयुक्त नियामवलियों के निर्माण के बारे में सरकारों को भी परामर्श देगा और उन्हें सामाजिक सुरक्षा कवच बनाने में सहायता करेगा
साथ ही मोबाइल बैंकिंग नेटवर्कों को भेजे गए धन के भुगतान को सुनिश्चित करेगा ताकि गरीब आबादी वित्तीय सेवाओं को उपयोग आसानी से बचत करने, बिलों का भुगतान और बीमा खरीदने में कर सकें
आज की तारीख में सीजीएपी ने एशिया,अफ्रीका और लैटीन अमेरीका में एक दर्जन से अधिक मोबाइल बैंकिंग का शुरूआत करने में वित्तीय और तकनीकी मार्गदर्शन प्रदान किया है और 13 देशों में विस्तृत नीतिगत आंकलन को संचालित किया है
इहर्बेक ने कहा कि ‘‘अगर हम सीमित बाजारों में दिखने वाली आरंभिक सफलता को ले तो अभी तक और वास्तव में इसे लोगों तक पहुंचाने में हमें इसकी सफलता , इसके टिकाउपन और सभी संबंधित लोगों को इससे मिलने वाली सुरक्षा को प्रदर्शित करने के लिए अभी बहुत कुछ करने की आवश्यकता दिखती है ।’’ केवल 2009 में ही वैश्विक स्तर पर 120 मनी पहलकदमी हुई सीजीएपी के शोध दिखाते हैं कि विकासशील देशों में शाखाविहिन बैंकिंग के करीब 40 प्रतिशत ग्राहकों के पास पहले इन सेवाओं के पास कोई पहुंच नहीं थी
सीजीएपी के शोधकर्ताओं ने पाया कि शाखाविहिन बैंकिंग ने परंपरागत माइक्रो फिनांस संस्थानों के मुकाबले पांच गुना अधिक तेजी से काम किया और यह कम मूल्य के लेनदेन के लिए परंपरागत बैंकों के मुकाबले 38 प्रतिशत सस्ता है जो लेनदेन उल्लेखनीय रूप से गरीबों द्वारा किया जाता है
लेकिन सीजीएपी के अनुसार अभी बहुत अधिक काम करने की आवश्यकता है ताकि नवोन्मेषपरक बचत, बीमा और अन्य वित्तीय उत्पादनों की डिजायन की जा सके जिससे शाखाविहिन बैंकिंग चैनलों का लाभ उठाते हुए गरीब आबादी अपने परिवार के जीवन को बेहतर बनाने में वित्तीय सेवाओं की पूरी श्रृंखला का उपयोग कर सकें
सीजीएपी के तकनीकी कार्यक्रम प्रबंधक स्टीफन रास्मुसेन ने कहा कि ‘‘एक प्रमुख सीख यह है कि जिस स्तर पर पहुंचने की आवश्यकता है, उसे प्राप्त करने के लिए आपके पास निश्चित रूप से सही व्यावसायिक माडल और सही नियमावली होना चाहिए जिससे शाखाविहिन बैंकों पर निर्भर लोगों के इस भरोसा को सुनिश्चित किया जा सके कि यह दीर्घस्थाई बना रहेगा और सुरक्षित रहेगा ।’’ इस अनुदान की घोषणा आज सिऐटल, वाशिंगटन में मेलिंगदा फ्रेंच गेटस द्वारा ग्लोबल सेविंग्स फोरम में की गई जो बचत खातों की पहुंच के दायरे को विस्तार देने के लिए 50 करोड डालर के फाउंडेशन की घोषणा का हिस्सा होगा और विश्व के गरीबों के लिए वित्तीय सुरक्षा प्रदान करने के लिए होगा
इस घोषणा में छह अनुदान पैकेज शामिल हैं जो कुल मिलाकर चार करोड डालर का होगा यह अनुदान फाउंडेशन की गरीबों के लिए वित्तीय सेवा पहलकदमी से दिया जाएगा ताकि ऐसी परियोजनाओं और साझीदारियों की सहायता की जा सके जो विकासशील देशों के गरीबों के दरवाजे पर गुणवत्ता, वहनक्षम बचत खाताओं और अन्य वित्तीय सेवाएं प्रदान किया जा सके
सीजीएपी के बारे में :- सीजीएपी एक स्वतंत्र नीति और शोध केंन्द्र है जो दुनिया के गरीबों के लिए वित्तीय सेवाओं की उपलब्धता की उन्नति के प्रति समर्पित है इसे 30 से अधिक विकास एजेंसियों और निजी फाउंडेशनों की सहायता प्राप्त है जो गरीबी उन्मुलन के साझा उदेश्य से प्रेरित हैं
विश्वबैंक में स्थित सीजीएपी बाजारगत सूचनाएं प्रदान करती है, मानदंडों को प्रोत्साहित करती है, नवोन्मेषपरक पहलकदमियों को विकसित करती है और सरकारों, माइक्रोफिनांस प्रदाताओं, दानदाताओं और निवेशकों को परामर्श सेवाएं प्रदान करती है
अधिक जानकारी एचटीटीपी : डबलस्लैस डब्लूडब्लूडब्लू डाट सीजीएपी डाट ओआरजी डाट