सीएचटीएफ 2010 के एक्जीबिटरों का फैशन बना लो कार्बन

 
 
23/11/2010 1:50:01:740PM
 
सीएचटीएफ 2010 के एक्जीबिटरों का फैशन बना लो कार्बन
शेनझेन, चीन, 22 नवंबर, पीआरन्यूजवायर- एशिया- एशियानेट ।
16 नवंबर को उद्घाटन किए गए चाइना हाई टेक ट्रेड फेयर 2010 : ‘‘सीएचटीएफ 2010’’ : में एलईडी लाइटिंग, इलेक्ट्रिक वाहनों, लो-कार्बन बिल्डिंग्स, पर्यावरण संरक्षित एवं इलेक्ट्रानिक अवशिष्टों से बने घरेलू फर्नीचरों जैसी नई उर्जा तथा उर्जा बचत वाली लो-कार्बन परियोजनाएं तथा उत्पाद सभी एक्जीबिटरों के बीच सामान्य रहे और वे अपने अपने लो-कार्बन उत्पाद प्रदर्शित कर रहे हैं ।
(Photo: http://www.prnasia.com/sa/2010/11/22/20101122426757.jpg)
 हाल संख्या 1 और 6 में कई प्रकार के इलेक्ट्रिक तथा हाइब्रिड इलेक्ट्रिक वाहन प्रदर्शनी में हिस्सा लेने वाले उद्यमियों तथा पेशेवर विजिटरों के हाईलाइट रहे । हाल संख्या 1 के बीवाईडी एक्जीबिशन जोन में नई उर्जा टेक्नोलाजीज तथा इलेक्ट्रिक बसों, एफ3डीएम डुएल-मोड इलेक्ट्रिक वाहन, ई6 पूर्ण इलेक्ट्रिक वाहन और चार्जिंग पोल एवं कैबिनेट जैसे शहरी सार्वजनिक परिवहन इलेक्ट्रिफिकेशन समाधानों ने विजिटरों का ध्यान काफी आकषिर्त किया है ।
हाल संख्या 7 में बांस से बने लो कार्बन घरों की ओर भी विजिटरों की नजर गई । इस हाउस में रिसाइक्लिंग सेप्टिक टैंक भी है । गंदे जल के अवशोधन के बाद इसका इस्तेमाल या तो शौचालय में फ्लश चलाने के लिए किया जा सकता है या फिर फूलों की सिंचाई करने में । इसकी छत के मैटेरियल न सिर्फ इनसुलेट हैं बल्कि इससे सौर उर्जा भी प्रदान की जा सकती है । इसके दरवाजे पर पेटेंट कराया गया एयर कंडिशनर इस्तेमाल किया जा सकता है । इस बात का जिक्र किया जाना जरूरी है कि इस घर को कई बार बनाया और तोड़ा जा सकता है ताकि तोड़ने के बाद बचे अवशिष्टों से बचा जा सके ।
आकी लिन कंपनी के प्रदर्शनी बूथ पर एक बड़ा बोर्ड पढ़ा जा सकता है, ‘‘लो-कार्बन टेक्नोलाजी एंड ग्रीन लाइफ’’ । बूथ के अंदर मौजूद किचन विभिन्न प्रकार की मशीनों की डिग्रेडिंग खारिज करती है । इनमें घरेलू वस्तु के प्रकार सिंगल-ट्यूब वाली छोटी वाशिंग मशीन के आकार के हैं । बची हुई सब्जियां और चावल को इसमें आसानी से फिट किया जा सकता है । 24 घंटे के बाद इन्हें गीली मिट्टी में डिग्रेड किया जा सकता है और फिर 20 दिनों के प्राकृतिक फरमेंटेशन के बाद ये चीजें प्राकृतिक आर्गेनिक खाद बन जाती हैं । जब आप इस खाद को किसी फूल के बेसिन में रखते हैं तो फूल या घास बड़ी तेजी से बढ़ते हैं ।
हांगकांग पालीटेक्निक यूनिवर्सिटी के बूथ पर भी इसकी थीम पर आधारित लो कार्बन तथा पर्यावरण संरक्षण वाली प्रक्रियाएं अपनाई गई हैं । इसके उत्पाद भी ‘‘ग्रीन’’ हैं जिनमें एक पूर्ण इलेक्ट्रिक वाहन ‘‘मायकार’’, औद्योगिक अवशिष्ट जल के साथ डिग्रेडेबल प्लास्टिक का उत्पादन, अवशिष्ट ग्लास बोतल के साथ बिल्डिंग मैटेरियल का उत्पादन और वाहनों के लिए सौर उर्जा से संचालित एयर कंडिशनिंग प्रणाली शामिल हैं ।
सीएचटीएफ 2010 के एक्जीबिशन हालों में चक्कर लगाते हुए आप निश्चित रूप से पाएंगे कि विज्ञान और प्रौद्योगिकी की सहायता से लो कार्बन का उत्सर्जन हमारे जीवन को बेहतर बना सकता है ।
स्रोत : चाइना हाई-टेक फेयर पीआरन्यूजवायर- एशिया- एशियानेट : रंजन रंजन पीडब्ल्यूआर4 11231303 दि