एयरो इंडिया 2011 में रोसोबोरोनएक्सपोर्ट भी

स्रोत: ROSOBORONEXPORT asianet 43185
श्रेणी: General
 
 
 
12/02/2011 11:04:51:427AM
 
एयरो इंडिया 2011 में रोसोबोरोनएक्सपोर्ट भी
मास्को, 9 फरवरी, पीआरन्यूजवायर- एशियानेट ।
एशिया में विमानों की प्रदर्शनी में से एक एयरोस्पेस, डिफेंस एंड सिविल एविएशन एयरो इंडिया 20011 पर 9 से 13 फरवरी 2011 तक आयोजित आठवीं अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शनी की मेजबानी बंगलुरु के उपनगरीय इलाके येलाहांका एयरफोर्स स्टेशन करेगा । इस एयर शो में नियमित भागीदारी करने वाली फेडरल स्टेट यूनिटरी एंटरप्राइज रोसोबोरोनएक्सपोर्ट हथियारोंे और सैन्य उपकरणों के 80 से ज्यादा आइटम पेश कर रही है ।
एयरोस्पेस सिस्टम्स रूस और भारत के बीच रक्षा सहयोग में हमेशा से मुख्य आकषर्ण रहा है । वर्ष 1964 में मिग-21 एयरक्राफ्ट की पहली खेप भारत में पहुंचाई गई थी और इसके बाद ही इन देशों ने अपने आधुनिक युग के सैन्य सहयोग शुरू किया है । परस्पर लाभदायी साझेदारी दशकों से चल रही है और अब यह एक रणनीतिक भागीदारी स्तर पर पहुंच चुकी है । रूस के राष्ट्रपति दिमित्री मेदवेदेव का आखिरी दौरा हमारे संबंधों की मजबूत स्थिति का सबूत है । इस दौरान कई महत्वपूर्ण समझौतों पर दस्तखत किए गए जिनमें पांचवीं पीढ़ी के फाइटर एयरक्राफ्ट : एफजीएफए : डेवलपमेंट प्रोग्राम के लिए औचित्य अध्ययन का एक अनुबंध भी शामिल है । यहीं से साझा कार्यक्रम क्रियान्वयन की शुरुआत हुई । इसी तरह के कई महत्वपूर्ण समझौते अमेरिका और चीन द्वारा भी किए गए । रूस द्वारा किए गए सहयोग का ही नतीजा है कि भारत अब उनकी जमात में ईमानदारीपूर्वक शामिल हो गया है ।
मल्टी-रोल ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट : एमटीए : के लिए महज संभावना के तौर पर यह एक डेवलपमेंट कार्यक्रम बन गया है जिसके तहत भविष्य में दोनों देशों की वायु सेना के साथ सेवाएं शुरू करने की योजना बनाई गई है । यह एयरक्राफ्ट सैन्य सेवाओं तथा व्यावसायिक एयर लिफ्टिंग कंपनियों दोनों द्वारा सक्रिय आपरेशन के इरादे से बनाया गया है ।
रोसोबोरोनएक्सपोर्ट के डिप्टी डायरेक्टर जनरल और भारत में आए प्रतिनिधिमंडल के प्रमुख विक्टर कोमारदीन ने कहा, ‘‘हम गहरे जड़ तक सहयोग की दिशा में और एडवांस्ड सिस्टम्स के विकास के लिए आगे बढ़ रहे हैं । इसमें बिल्कुल नए स्तर के भरोसे की जरूरत पड़ती है । उन्हें फिनिश्ड आइटम या लाइसेंस द्वारा एसेंबल किए गए आइटम को बेचने का यह एक तरीका है और यह पांचवीं पीढ़ी के लड़ाकू विमान, ट्रांसपोर्ट विमान एमटीए या ब्रह्मोस मिसाइलों जैसे कार्यक्रम लागू करने के लिए बिल्कुल अलग है । हमने इसी के मुताबिक कई बड़े प्रोग्राम शुरू किए हैं जो हमारे देशों की भविष्य की रक्षा क्षमताओं को परिभाषित करेंगे ।’’ अधिक जानकारी के लिए कृपया इस साइट पर क्लिक करें :    (http://www.roe.ru/news/pr_rel/pr_rel_eng/pr_eng_11_02_08.html )

प्रेस और मीडिया के लिए जानकारी फेडरल स्टेट यूनिटरी इंटरप्राइज रोसोबोरोनएक्सपोर्ट रूस की एकमात्र ऐसी कंपनी है जो रक्षा संबंधी और दोहरे इस्तेमाल वाले उत्पादों, प्रौद्योगिकियों तथा सेवाओं की पूर्ण शृंखला के निर्यात के लिए अधिकृत है । रोसोबोरोनएक्सपोर्ट की आधिकारिक स्थिति सभी आपरेशनों में सरकारी सहयोग की गारंटी सुनिश्चित करती है । रोसोबोरोनएक्सपोर्ट वैश्विक हथियार बाजार की बड़ी कंपनियों में शुमार की जाती है और यह रूस द्वारा हथियारों की सालाना बिक्री के 80 प्रतिशत की हिस्सेदारी रखती है ।
रोसोबोरोनएक्सपोर्ट के प्रतिनिधिमंडल के प्रमुख की प्रेस सेक्रेटरी के तौर पर नतालिया शिल्युपकिना को नियुक्त किया गया है । इस प्रदर्शनी में कंपनी संबंधी गतिविधियों के कवरेज से जुड़े किसी भी सवाल का जवाब उनसे स्टैंड पर ही या फोन नंबर 9 181 97 32 33 27 पर हासिल किया जा सकता है ।
रोसोबोरोनएक्सपोर्ट पब्लिक इन्फार्मेशन आफिस 27, स्ट्रोमिनका स्ट्रीट, मास्को, 107076, रशियन फेडरेशन टेलीफोन 7 :495: 964 6618, 7 :495: 739 6009 फैक्स 7 :495: 963 2613, 7 :495: 964 8311  http://www.rusarm.ru
वेंतस्लोवस्की एट पोस्ट डाट रसआर्म डाट आरयू : एलेक्सी ए डाट वेंतस्लोवस्की, पीआर- मैनेजर : स्रोत : रोसोबोरोनएक्सपोर्ट पीआरन्यूजवायर- एशियानेट : रंजन रंजन पीडब्ल्यूआर1 02091352 दि