वैश्विक आईटी आउटसोर्सिंग पर साइबेज नालेज सीरीज

स्रोत: Cybage asianet 43242
श्रेणी: High Technology
 
 
 
16/02/2011 1:43:56:010AM
 
वैश्विक आईटी आउटसोर्सिंग पर साइबेज नालेज सीरीज
पुणे, भारत, 15 फरवरी, पीआरन्यूजवायर- एशियानेट ।
-क्या आईटी आउटसोर्सिंग का असल मतलब संगठन आधारित आपरेशनल कार्यकुशलता होना चाहिए ? ‘‘आफशोर प्रोडक्ट इंजीनियरिंग के जरिये मैक्सिमम प्रोडक्ट डेवलपमेंट आरओआई’’ पर पहले संस्करण का श्वेतपत्र जारी करते हुए साइबेज अब इसमें उठाए गए कुछ बिंदुओं को लेकर प्रतिक्रियाएं देने जा रही है ।
इसके अलावा साइबेज कुछ सिलसिलेवार सवालों पर विचार के लिए पाठकों को भी प्रोत्साहित करेगी ।
अपने सभी संबंधित और अत्यधिक समर्थन वाले लाभों को एक साथ करते हुए क्या हम इस नतीजे के प्रति सुरक्षित तरीके से आश्वस्त रह सकते हैं कि आउटसोर्सिंग पूरी तरह से आपरेशनल कार्यकुशलताओं से जुड़ी होती है ? यदि हां तो एक वृहद तस्वीर देखना भी संभव है और क्या ऐसी स्थिति बन सकती है जहां आउटसोर्सिंग न सिर्फ प्रोडक्ट इंजीनियरिंग और विकास पर प्रभाव डाल सके बल्कि यह संगठन की समग्र संरचना पर भी असर डालेगी ? दूसरे शब्दों में क्या किसी साफ्टवेयर सेवाओं में आउटसोर्सिंग साफ्टवेयर विकास कार्य की प्रक्रिया एचआरडी, फाइनेंस, रिक्रूटमेंट, मारकेटिंग, सेल्स या एडमिनिस्ट्रेशन जैसी व्यापारिक प्रक्रियाओं के दायरे में समग्र संगठन को ज्यादा कारगर बना सकती है जिससे मुनाफों का स्तर बढ़ाया जा सके ? और क्या आउटसोर्सिंग किसी कारोबारी के समग्र संस्थागत उद्देश्य, इससे जुड़े व्यापारिक सिद्धांत और इसकी रणनीति एवं नीतिगत विषयों को प्रभावित किए बगैर यह स्थिति हासिल कर सकती है, जब समस्त लागत समीकरण को संतुलित रखा जाए? साइबेज श्वेत पत्र पर खुद की प्रतिक्रियाओं या इस लेख में उठाए गए बिंदुओं का स्वागत करती है । कृपया इस लेख के लेखक से इस पते पर संपर्क करें : सुनील पी सोनेजी, साइबेज साफ्टवेयर, पुणे में बिजनेस स्ट्रैटजी के प्रमुख । आप उनसे उनके ई-मेल पते एससोनेजी एट साइबेज डाट काम पर भी संपर्क कर सकते हैं ।
सुनील पी सोनेजी, साइबेज साफ्टवेयर, पुणे में बिजनेस स्ट्रैटजी के प्रमुख टेलीफोन : 91 20 66044700 एक्स. 7278 फैक्स : 91 20 66044701 सेल : 91 96577 02736 एससोनेजी एट साइबेज डाट काम 
 http://www.cybage.com
स्रोत : साइबेज साफ्टवेयर
पीआरन्यूजवायर- एशियानेट : रंजन रंजन पीडब्ल्यूआर1 02151003 दि