सेनेगल अपने प्रमुख मुद्दों कृषि बाजारों के नियमन और वर्ल्ड गवर्नेंस के साथ 18 और 19 अप्रैल 2011 को अंतरराष्ट्रीय फोरम डाकर एग्रीकोल का आयोजन करने जा रहा है

स्रोत: MOMAGRI asianet 43261
श्रेणी: General
 
 
 
16/02/2011 1:55:58:430AM
 
सेनेगल अपने प्रमुख मुद्दों कृषि बाजारों के नियमन और वर्ल्ड गवर्नेंस के साथ 18 और 19 अप्रैल 2011 को अंतरराष्ट्रीय फोरम डाकर एग्रीकोल का आयोजन करने जा रहा है
डाकर, सेनेगल, 14 फरवरी, पीआरन्यूजवायर- एशियानेट ।
राष्ट्रपति अब्दुलाये वेड की पहल पर सेनेगल 18 और 19 अप्रैल 2011 को डाकर के मेरीडियन प्रेसिडेंट होटल में अंतरराष्ट्रीय डाकर एग्रीकल्चरल फोरम का दूसरा सत्र आयोजित करने जा रहा है ।
जी-20 की कृषि बैठक से एक महीने पहले पूरी दुनिया के राष्ट्राध्यक्ष, मंत्री, किसान और विशेषज्ञ नियमन तथा वैश्विक कृषि गवर्नेंस पर चर्चा के लिए डाकर में मिलेंगे ।
यह कार्यक्रम अंतरराष्ट्रीय समुदाय के समक्ष उपस्थित मूलभूत सवालों का जवाब देने के लिए मोमाग्री के थिंक टैंक : मूवमेंट पोर यूने आर्गेनाइजेशन मोंडियेल डी आई’एग्रीकल्चर :1: :, के सहयोग से आयोजित किया गया है : – जिसके तहत क्या हम खाद्य संकट रोकने तथा कृषि संकट की पुनरावृत्ति टालने के लिए सिद्धांतों के अनुसार कृषि बाजार का नियमन कर सकते हैं ? – खाद्य सुरक्षा में सुधार और गरीबी से मुकाबले के लिए हमें किस तरह के हथियार और अंतरराष्ट्रीय सहयोग की जरूरत पड़ेगी ? -इन आधारों पर क्या हम नया वैश्विक प्रबंधन निर्मित कर सकते हैं जो कृषि, खाद्य और पर्यावरण संरक्षण को शीर्ष वरीयता पर रख सके ? इस फोरम से सामने आए निष्कर्ष फ्रांस की अध्यक्षता में आयोजित जी20 सम्मेलन के दौरान अंतरराष्ट्रीय समझौतों के लिए निश्चित रूप से एक अनिवार्य स्तंभ का गठन करेंगे ।
यह फोरम ‘‘वैश्विक प्रबंधन में दक्षिण के देशों की भूमिका और आवाज’’ की मजबूती के लिए भी अंतरराष्ट्रीय प्रतिबद्धता का समर्थन करेगा ।
पेरिस इंटरनेशनल एग्रीकल्चर शो और रोम, इंटली में आयोजित आईएफएडी के गवर्निंग काउंसिल के दौरान सेनेगल के कृषि मंत्री माननीय खादिम ग्यूये का कार्यक्रम अपने समकक्षों के साथ इस मुद्दे पर चर्चा करने के लिए तय हुआ है ।
अंतरराष्ट्रीय डाकर एग्रीकल्चरल फोरम क्या है ? यह अंतरराष्ट्रीय कार्यक्रम पहले डाकर एग्रीकल्चरल फोरम पर आधारित है जिसमें 4 और 5 फरवरी 2005 को कई राष्ट्रों के अध्यक्ष और 800 से अधिक भागीदारों : पूरी दुनिया के मंत्रियों, शोधकर्ताओं तथा शिक्षाविदों, अंतरराष्ट्रीय संगठनों, एनजीओ, बहुराष्ट्रीय कंपनियों और कृषि संगठनों ने ‘‘वैश्विक कृषि विभाजन’’ के थीम पर चर्चा की ।
सभी देशों के लिए खुला यह फोरम अब एक अगुआ के तौर पर जाना जाने लगा है । सचमुच कृषि और खाद्य के मुद्दे इस पृथ्वी के भविष्य : भूमि खरीद, दंगों, कृषि संकट की पुनरावृत्ति, कृषि मूल्यों के उतार-चढ़ाव से जुड़े हुए हैं ।
राष्ट्रपति वेड और दक्षिण के देशों की पहल पर आदान-प्रदान के एक क्षेत्र के तौर पर यह फोरम कृषि जी20 सम्मेलन के शुभारंभ के इरादे से शुरू किया गया है ।
:1: मोमाग्री, http://www.momagri.org
स्रोत : मोमाग्री पीआरन्यूजवायर- एशियानेट : रंजन रंजन पीडब्ल्यूआर3 02141544 दि