हाई-कपैसिटी केबल जो गा्रेथ रिजन्स को बेहद आवश्यक विविधता देगा को स्वीकार्य करने के साथ ही यूरोप इंडिया गेटवे संघ की शुरूआत हुई

स्रोत: 43402 Europe India
श्रेणी: High Technology
 
 
 
23/02/2011 9:42:56:593PM
 
हाई-कपैसिटी केबल जो गा्रेथ रिजन्स को बेहद आवश्यक विविधता देगा को स्वीकार्य करने के साथ ही यूरोप इंडिया गेटवे संघ की शुरूआत हुई
लंदन, 23 फरवरी,2011:पीआरन्यूजवायर-एशियानेट:- ग्रुप ने सक्रियण और सेवायें देने वाला केबल तैयार किया वैश्विक कम्यूनिकेशन्स उद्योग के नायकों ने यूरोप इंडिया गेटवे :ईआईजी:केबल सिस्टम के पहले हिस्से की डिलिवरी को स्वीकारना शुरू कर दिया है । द लीडर्स- संघ के 16 सदस्य जो 700 मिलियन डालर के उच्च-क्षमता वाले सबमैरिन केबल सिस्टम की निगरानी के लिए जिम्मेदार हैं – अब अपने सिस्टम के अलग अलग भागों को सक्रिय करना शुरू कर देंगे और ऐसी सेवायें प्रदान करेंगे जो यूरोप से मध्य पूर्व, अफ्रीका और भारत के बीच क्षमता और विविधता को बढ़ायेगा ।
ईआईजी संघ के सदस्य कुल 15,000 किमी ईआईजी केबल सिस्टम में से 11,300 किलोमीटर की डिलीवरी को स्वीकार कर रहें हैं, जिसकी घोषणा 2008 में हुई थी, और जिसमें 13 में से 11 लैंडिंग साइटस हैं । स्वीकार्य किये गये केबल सिस्टम रूटों में : लंदन से बुड, यूके. : बुड से पुर्तगाल से जिब्राल्टर से मोनाको से लिबिया: मोनाको से मर्साइ, फा्रंस : और सउदी अरब से जिबाउटी से ओमान से संयुक्त अरब इमीरात से भारत ।
स्वीकृत ईआईजी केबल लैंडिंग साइटस हैं : यूनाइटेड किंग्डम, पुर्तगाल, जिब्राल्टर, मोनाको, लिबिया, साउदी अरब, जिबुटी, ओमान, यूएई, भारत और मर्साइ, फा्रंस में एक टर्मिनल साईट । ईआईजी को पूरा करने के लिए केवल एक हिस्सा जो बचा है वो मिस्त्र में है जहां दो लैंडिंग साइटें हैं ।
जब मिस्त्र के लिंक से यह पूर्णत सक्रिय हो जायेगा, तो यूनाईटेड किंगडम से भारत पहुंचने वाला ईआईजी अपनी तरह का पहला प्रत्यक्ष हाई-बैंडविथ आप्टिकल फाइबर सिस्टम होगा । पूरे सिस्टम में डिजाइन कैपेसिटी 3.84 टेराबिट्स प्रति सेकंड :टीबीपीएस: होगा जिसमें डेंस वेवलेंथ डिवीजन मल्टीप्लेक्सिंग :डीडब्ल्यूडीएम: तकनीक का प्रयोग होगा जो उच्चस्तरीय ट्रांसमिशन सुविधा प्रदान करेगा जो वर्तमान और भविष्य में इंटरनेट, ई-कामर्स, डाटा, विडियो और वायस सेवाओं का समर्थन करेगा ।
क्षेत्र में मौजूदा हाई-बैंडविथ केबल सिस्टम्स के पूरक के अलावा, ईआईजी ब्रोडबैंड ट्रैफिक के लिए बेहद जरूरी विविधता भी प्रदान करेगा, जो सम्प्रति यूरोप और भारत के बीच चल रहे पारम्परिक मार्गों के भरोसे हैं । यह विविधता क्षेत्र में भूकंप के खतरे को देखते हुये आवश्यक है ।
ईआईजी संघ के सदस्य हैं : एटी एण्ड टी : भारती एअरटेल : बीटी: भारत संचार निगम लिमिटेड : केबल एण्ड वायरलेस वर्ल्डवाइड : जिबुटी टेलीकाम : डीयू : जिबटेलकाम : लिबियन पोस्ट, टेलीकाम एण्ड इंफोरमेशन टेक्नोलाजी कम्पनी : एमटीएन ग्रुप : ओमानटेल : पीटी कम्यूनिकोअस, एस.ए : साउदी टेलीकाम कम्पनी : टेलीकाम इजिप्ट : टेलीकाम एसए लिमिटेड : और वेरीज़ोन ।
ईआईजी केबल सिस्टम के आपूर्तिकर्ता अलकैटेल-ल्युसेंट एण्ड टायको इलेक्ट्रानिक्स सबसी कम्यूनिकेशन्स :टीईसबकाम: हैं ।
स्रोत: यूरोप इंडिया गेटवे :ईआईजी: सम्पर्क : लिंडा लाफलिन, वेरीज़ोन, :1-918-590-5595, linda.laughlin@verizon.com; : या नियाल हिक्की, एटी एण्ड टी, :44 771 577 1451, nhickey@emea.att.com पीआरन्यूजवायर : एशियानेट : किरण अमर पीडब्ल्यूआर3 02231330 दि