नाजियों द्वारा जब्त की गई यहूदियों की निजी सम्पत्ति की पहचान के लिए दुनियाभर में प्रयास तेज़

स्रोत: 43406 Holocaust
श्रेणी: General
 
 
 
24/02/2011 7:15:44:600PM
 
नाजियों द्वारा जब्त की गई यहूदियों की निजी सम्पत्ति की पहचान के लिए दुनियाभर में प्रयास तेज़
येरूशलम, 23 फरवरी,2011:पीआरन्यूजवायर-एशियानेट:- होलोकास्ट एरा एस्सेट रेस्टीटयूशन टास्कफोर्स-प्रोजेक्ट हार्ट न्यू होलोकास्ट एरा रेस्टीटयूशन प्रोजेक्ट की घोषणा आज की गई है जो उन पीड़ितों की पहचान करेगा जिनकी सम्पत्तियां नाजियों द्वारा ज़ब्त कर ली गई थी ।
 (Photo:  http://photos.prnewswire.com/prnh/20110223/CG51872-a)
   (Logo:  http://photos.prnewswire.com/prnh/20110223/CG51872LOGO-f)
इजरायल की सरकार के सहयोग से, जूइश एजेंसी फार इजरायल :जेएएफआई:, द्वारा की गई पहल, होलोकास्ट एरा एस्सेट रेस्टीटयूशन टास्कफोर्स-प्रोजेक्ट हार्ट-का लक्ष्य वो टूल्स, रणनीति और जानकारी मुहैया कराना है जिससे इजरायल की सरकार, इस प्रोजेक्ट, और उसके सहयोगियों को यहूदी पीड़ितों के योग्य उत्तराधिकारियों, स्वयं पीड़ित और यहूदी लोगों को न्याय दिलाने के सूक्ष्म उपायों के बारे में बताया जा सके ।
इस पहले चरण में, प्रोजेक्ट हार्ट का फोकस उन व्यक्तियों की पहचान करना होगा जिनका निम्न प्रकार के नीजी सम्पत्ति पर सम्भावित दावा होगा जिनकी विध्वंस के युग के बाद कोई क्षतिपूर्ति नहीं की गई है : :1: वह नीजी सम्पत्ति जो उन देशों में स्थित है जहां होलोकास्ट युग के दौरान नाजी सेना अथवा धुरी शक्तियों का नियंत्रण था : और :2: वह नीजी सम्पत्ति जो उन यहूदी जनों की थी जिन्हें नाजी:अक्ष नस्लीय कानूनों के तहत परिभाषित करते थे : और :3: वह नीजी सम्पत्ति जिसको होलोकास्ट एरा के दौरान जब्त किया गया, लूटा गया या जबरदस्ती नाजियों अथवा धुरी शक्तियों द्वारा बेच दिया गया ।
जुइश एजेंसी के इजराइली चेयरमैन नातन श्रान्सकी ने बताया, ‘‘कई पीड़ित जो होलोकास्ट के बाद अपने घरों को वापिस लौटे उन्होंने पाया की वो अपनी सम्पत्ति को पुन बचाने में सक्षम नहीं रहे । ’’ ‘‘प्रोजक्ट हार्ट एक व्यापक सामान्य कार्यक्रम है जिसका अन्तिम उददेश्य होलोकास्ट युग के दौरान लूटी या चुराई गई सम्पत्ति का मुआवजा दिलाना है और इसे उससे सम्बन्धित जानकारी इकट्ठी करने के लिए लांच किया गया है ।’’ होलोकास्ट के पीड़ित यहूदी और उनके उत्तराधिकारी जिनकी सम्पत्ति चल, अचल, या अप्रत्यक्ष सम्पत्ति जो की ज़ब्त की गई, लूटी गई, या फिर जबरदस्ती उन देशों में बेची गई जिन पर होलोकास्ट के दौरान नाजी सेनाओं या धुरी शक्तियों का अधिकार था, इसके लिए योग्य हैं । मुआवजे के लिए आवेदन में केवल एक बाधा है वो यह कि अगर कोई उत्तराधिकारी होलोकास्ट युग के बाद : अर्जित सम्पत्ति के लिए मुआवजा मांगता है तो वो इसका पात्र नहीं होगा ।
प्रोजेक्ट की निदेशक, आन्या वर्कोव्सक्या ने बताया, ‘‘ आवेदन के लिए सम्पत्ति स्वामित्व के लिए यह जरूरी नहीं की आवेदन के साथ प्रमाण दिया जाये । अगर किसी व्यक्ति को लगता है कि वह किसी सम्पत्ति पर उसका स्वामित्व था या वह उसका लाभार्थी है, तो उन्हें एक प्रश्नावली को भरना होगा । ’’ प्रोजेक्ट हार्ट की योग्य सम्पत्ति में हर तरह की निजी सम्पत्तियां समाहित हैं : :1: अचल सम्पत्ति, सम्पत्ति का एक ऐसा अंश जिसे बिना नष्ट किये या फेरबदल किये कहीं नहीं ले जाया जा सकता है । इसमें स्थिर सम्पत्ति जैसे विकसित भूमि, जिसमें कई इमारतें बनी हैं, और वो भूमि है जिस पर कोई इमारत नहीं खड़ी है ।
:2: चल सम्पत्ति, कोई भी सम्पत्ति जिसे एक से दूसरी जगह पर ले जाया जा सकता है । इसमें कला, जुदाईका, मवेशी, व्यावसायिक उपकरण, बेशकीमती धातु, कीमती पत्थर, ज़ेवर और अन्य चलयमान सम्पत्ति हो सकती है ।
:3: अमूर्त निजी सम्पत्ति, वह निजी सम्पत्ति जिसे वास्तव में न तो कहीं ले जाया जा सकता है, छूआ जा सकता है, या अनुभव किया जा सकता है हालांकि वह किसी मूल्यवान चीज को दर्शाती है । इसमें कुछ लिखित सामान जैसे स्टाक्स, बान्डस, इन्श्योरेंस पालिसी, बचत खाता, पंजीकृत पेटेंट, दहेज सम्बंधी नीतियां और अन्य प्रकार की अमूर्त निजी सम्पत्ति शामिल है । इसमें नकारात्मक सम्पत्ति-ऋण और उस व्यक्ति पर बकाया ऋण या गिरवी रखे गये सामानों की देनदारियां हो सकती हैं ।
जेएएफआई के बाबी ब्राउन ने बताया, ‘‘चूंकि यहूदी लोगों और समुदायों को उनकी सम्पत्ति को जब्त कर बहुत बड़ा नुकसान पहुंचाया गया था, ऐसे में प्रोजेक्ट हार्ट कुल मिलाकर एक पहल है उन लोगों तक पहुंचने का जिनके दर्द का हम शायद कभी अंदाजा भी नहीं लगा सकते, लेकिन उनको हम वो डाटा इकटठा करने में मदद कर सकते हैं, जिससे आशा है कि अंतत उनके हक को दिलाने में सहायता मिलेगी जो यकीकन उनका ही है । ’’ ‘‘देरी से उठाया गया, लेकिन अति महत्वपूर्ण कदम है जो उनके उपर होलोकास्ट के दौरान की गई ज्यादतियों को कुछ हद तक कम करेगा, सम्पत्ति की क्षतिपूर्ति का जिम्मा अब प्रोजेक्ट हार्ट ने उठा लिया है । ’’ एक आसान सी पात्रता की प्रक्रिया बनाई गई है । इसमें हिस्सा लेने के लिए लोगों को केवल एक प्रश्नावली को भरना है जिसे  http://www.heartwebsite.org.  से प्राप्त किया जा सकता है ।
प्रश्नावली का आधार प्रासंगिक सरकारों या प्राधिकारियों के समझौते पर संसाधित किया जायेगा है जिसे क्षतिपूर्ति के प्रयासों को पाने के लिए किया जा रहा है ।
प्रोजेक्ट हार्ट की निदेशक, आन्या वर्कोव्सक्या को सम्पर्क करें, प्रेस एट हार्टवेबसाइट डाट ओआरजी या :1-414-961-7417 अथवा ज्यादा जानकारी के लिए जायें  http://www.heartwebsite.org.

पर ।
स्रोत:होलोकास्ट एरा एस्सेट रेस्टीटयूशन टास्कफोर्स-प्रोजेक्ट हार्ट
 सम्पर्क :आन्या वर्कोव्सक्या निदेशक प्रोजेक्ट हार्ट  +1-414-961-7417, press@heartwebsite.org 

पीआरन्यूजवायर : एशियानेट :किरण अमर पीडब्ल्यूआर2 02231330 दि