भारत में बढती चुनौतियों के मद्देनजर 60 प्रतिशत से अधिक एचआर पेशेवरों ने प्रतिभा अधिग्रहण और प्रबंधन को लक्ष्य बनाया ।

स्रोत: IQPC India -44833
श्रेणी: General
 
 
 
01/06/2011 11:15:19:700AM
 
बंगलुरू, भारत 30 मई पीआर न्यूजवायरएशियानेट
एचआर तकनीक वैश्विक स्तर पर विकसित हो रही है और भारत में एकीकृत एचआर प्रणाली की आवश्यकता अभी बहुत अधिक है देश के एचआर पेशेवरों की इन भावनाओं का अनुभव एक उच्चस्तरीय पेशेवर सम्मेलन में किया जा सकता है जो बंगलुरू के चांसेरी पैवेलियन में चार जून से छह जून 2011 के बीच एचआर टेक्नोलाजी इंडिया 2011 के रूप में आयोजित हो रहा है
हाल में संपन्न आईक्यूपीसी द्वारा कराए गए एचआर सर्वेक्षण में 61.9 प्रतिशत उत्तरदाताओं ने प्रतिभा अधिग्रहण और प्रबंधन को सबसे बडी चुनौती ठहराया जिससे थोडा ही कम महत्व व्यावसायिक प्रक्रियाओं का तकनीकों के साथ एकीकरण को दिया
भारत के एचआर पेशेवरोंको समन्वित और उपयोगकर्ताओं के लिए दोस्ताना प्रणाली का आविष्कार होने का इंतजार कर रहे हैं जिससे विभिन्न एचआर गतिविधियों को संचालित करने के साथसाथ विशाल कार्यबलों का प्रबंधन कियाजा सके
भारत में अपना आधार तैयार करने वाली अंतर्राष्ट्रीय कंपनियों की संख्या लगातार बढ़ रही है और देश के लिए यह आवश्यक हो गया है कि वैश्विक एचआर मानदंडों को अपनाया जाए
परंपरागत एचआर 5यासों में परिवर्तान करना एक आवश्यकता है जिसे कर्मचारियों और नियोक्ताओं दोनों द्वारा स्वागत किया जाना तय है
देश के एचआर पेशेवरों ने अभी महत्वपूर्ण एचआर मसलों को निपटाने के लिए अलग किस्म के साफ्टवेयर के साथ प्रयोग कर रहा है जिसमें प्रतिभाओ को प्राप्त करना और बनाए रखना, प्रदर्शन का प्रबंधन करना और निगरानी करना, क्षतिपूर्ति फायदों का अांकलन करना, एचआर पैमानों का प्रबंधन करना के साथ कार्यबल के बारे में योजना बनाना और उन्हें हटाना शामिल है
इसे समझना महत्वपूर्ण है कि विभिन्न संगठनों की आवश्यकता विशेष किस्म की होती है और एक ही आकारप्रकार के समाधान हर जगह उपयुक्त नहीं होते यह मामला खास कंपनी के लिए उपयुक्त एचआर तकनीक के चुनाव के मामले में भी लागू होती है एचआर समुदाय नई प्रतिभाओं को आकषिर्त करने तथा कर्मचारियों को व्यस्त रखने में मोबाइल आधारित प्रयुक्तियों और सोशल मीडिया को क्रियाशील बनाना चाहता है सोशल मीडिया का एचआर पेशेवरों के साथसाथ अन्य कर्मचारियों के द्वारा क्षमताभर उपयोग किया जाना अभी बाकी है
इसके लिए इस संसाधन के बारे में सही समझदारी कायम करना आवश्यक है सम्मेलन के दौरान नियुक्तियों और कर्मचारियों के प्रशिक्षण में सोशल मीडिया की भूमिका के बारे में विचारविमर्श करने के लिए एक विशेष समूहचर्चा का कार्यक्रम निर्धारित है
एचआर टेक्नोलाजी इंडिया 2011 में इस क्षेत्र की अग्रणी कंपनियों की प्रमुख एचआर कार्यकलापों और तकनीकों को शामिल किया जाएगा जिसमें यूबी ग्रूप :किंगफीशर:, कोटक महिन्द्रा बैंक, वोडाफोन इंडिया, एमटीएस इंडिया और भारती एयरटेल शामिल हैं
इसकी कार्यसूची में प्रमुख एचआर कार्यो के बारे में प्रस्तुतियां शामिल है जिसमें कर्मचारियों की नियुक्ति, वेतनमान का प्रबंधन, अध्ययन और विकास, क्षतिपूर्ति, कार्यबल के बारे में योजना निर्माण, प्रदर्शन प्रबंधन, प्रतिभा प्रबंधन, नौकरी से निकालने की योजना निर्माण और अन्य शामिल होंगे।
सम्मेलन के बारे में अतिरिक्त जानकारी निम्नलिखित वेबसाइट पर उपलब्ध हैं:-
http://www.hrtechnologyindia.com
स्रोत :- आईक्यूपीसी इंडिया
संपर्क,केवल मीडिया :- डेल्सी डी’सूजा विपणन प्रबंधन आईक्यूपीसी इंडिया 971-360-2903 डेल्सी डाट डीसूजा :एैट: आईक्यूपीसी डाट काम