एक्स-इम बैंक ने भारत में पुंज लायड को निर्यात में मदद के लिए अबाउंड सोलर इंक. को 92 लाख डालर का कर्ज देने की घोषणा की

स्रोत: Ex-Im Bank Asianet 45549
श्रेणी: Energy and Power
 
 
 
19/07/2011 10:45:41:040PM
 
एक्स-इम बैंक ने भारत में पुंज लायड को निर्यात में मदद के लिए अबाउंड सोलर इंक. को 92 लाख डालर का कर्ज देने की घोषणा की
नई दिल्ली, 18 जुलाई, 2011, पीआरन्यूजवायर- एशियानेट ।
एक्स-इम बैंक के चेयरमैन फ्रेड पी. होचबर्ग 17 से 22 जुलाई को बिजनेस डेवलपमेंट मिशन के लिए भारत में होंगे अमेरिकी एक्सपोर्ट-इम्पोर्ट बैंक : एक्स-इम बैंक : ने आज घोषणा की कि वह लवलैंड, कोलंबिया की अबाउंड सोलर इंक. द्वारा पुंज लायड सोलर पावर लिमिटेड को थिन-फिल्म सोलर फोटोवोल्टेइक माड्यूल्स के निर्यात में सहयोग के लिए अबाउंड को 92 लाख दीर्घकालिक कर्ज प्रदान करने जा रही है ।
(Logo: http://photos.prnewswire.com/prnh/20110414/MM83673LOGO)
30 जून तक वित्त वर्ष 2011 के पहले नौ महीनों के दौरान एक्स-इम बैंक ने भारत में अमेरिकी निर्यात में सहयोग के लिए कुल 1.4 अरब डालर की वित्तीय सहायता के तहत 173 लेनदेन : यह कर्ज सहित : को मंजूरी दी है जिससे 10,000 से अधिक अमेरिकी रोजगार सृजन में सहयोग मिलेगा । जून तक वित्त वर्ष 2011 के दौरान बैंक द्वारा भारत संबंधी मंजूरी वित्त वर्ष 2011 की कुल सहायता राशि 5.3 करोड़ डालर से अधिक है ।
वर्तमान में भारत एक्स-इम बैंक की अनुमति और कर्ज वितरण में एशिया देशों के बीच पहला स्थान रखता है । बैंक का आकलन है कि भारत वित्त वर्ष 2012 तक विश्व में सबसे बड़ा एकल देश बाजार बन जाएगा ।
पुंज लायड सौर उर्जा लेनदेन में अबाउंड सोलर का निर्यात राजस्थान के जोधपुर से 145 किलोमीटर दूर बाप गांव के पास 62.5 एकड़ भूमि पर पांच मेगावाट : एमडब्ल्यू : सौर परियोजना के निर्माण में इस्तेमाल किया जाएगा । यह परियोजना जवाहरलाल नेहरू राष्ट्रीय सौर उर्जा कार्यक्रम के तहत विकसित की जा रही पहली परियोजना है जिसका लक्ष्य वर्ष 2022 तक 20,000 से अधिक एमडब्ल्यू क्षमता की सौर उर्जा स्थापना को विकसित करना है ।
एक्स-इम बैंक भारत के राष्ट्रीय सौर कार्यक्रम के तहत सौर उर्जा परियोजनाओं को मंजूरी देने वाली पहली अंतरराष्ट्रीय वित्तीय संस्था है और गुजरात सरकार की सौर उर्जा नीति के तहत चल रही वित्तीय योजनाओं को मंजूरी देने वाली पहली योजना है । आज की तारीख तक वित्त वर्ष 2011 में बैंक ने भारत की चौर सौर परियोजनाओं के लिए तकरीबन 7.5 करोड़ डालर राशि की मंजूरी दी है । भारत में तकरीबन 50 करोड़ डालर की सौर परियोजनाओं में भी मदद के लिए बैंक तैयारी कर रही है जिससे 315 मेगावाट की अनुमानित सौर उर्जा का उत्पादन होगा ।
नई दिल्ली में आज इस समझौते की घोषणा करने वाले एक्स-इम बैंक के चेयरमैन और अध्यक्ष फ्रेड पी. हाचबर्ग ने कहा, ‘‘भारत ने सौर उर्जा उत्पादन बढ़ाने का महत्वाकांक्षी लक्ष्य तय किया है और इस बाजार में प्रगति करने वाली सौर कंपनियों को प्रोत्साहित करने के लिए पुरस्कारों की घोषणा कर रही है । एक्स-इम बैंक भारत के इस ठोस सौर उर्जा सेक्टर को समर्थ बनाने के लिए पुंज लायड के साथ भागीदारी करते हुए खुश है । हम यह सुनिश्चित करने के लिए अमेरिकी निर्यातकों के साथ मिलकर काम कर रहे हैं कि वह वित्तीय स्तर पर प्रतिस्पर्धी हैं और उन्हें इन महत्वपूर्ण कार्यक्रमों में भागीदारी करनी चाहिए ।’’ पुंज लायड ग्रुप के चेयरमैन अतुल पुंज ने कहा, ‘‘हम अपनी परियोजना के लिए वित्तीय समायोजन हासिल करने को लेकर अमेरिकी एक्स-इम बैंक का सहयोग पाकर अत्यधिक फख्र महसूस करते हैं । इससे हमारी संस्था भारत में सौर उर्जा के इस्तेमाल के पैमाने पर एक अग्रणी डेवलपर, एक इंजीनियर और खरीद तथा निर्माण कंपनी बनने का अपना लक्ष्य हासिल कर लेगी ।’’ अबाउंड सोलर में मारकेटिंग के उपाध्यक्ष रसेल कंजोस्र्की ने कहा, ‘‘सोलर फोटोवोल्टेइक परियोजनाओं को वित्तीय सहायता प्रदान करने की क्षमता रखना उतना ही महत्वपूर्ण है जितना कि इस्तेमाल होने वाले अवयवों की गुणवत्ता बनाए रखना । अबाउंड सोलर भारत में तथा विश्व में कहीं भी ग्राहकों को अपने अमेरिका निर्मित सौर माड्यूल्स के निर्यात को विस्तार देने के लिए एक्स-इम बैंक का सहयोग पाकर काफी रोमांचित है ।’’ एक्स-इम के 18 वर्षीय कर्ज का भुगतान भारत के नेशनल थर्मल पावर कारपोरेशन की पूर्ण निजी उर्जा कारोबारी कंपनी एनटीपीसी विद्युत व्यापार निगम लिमिटेड : एनवीवीएन : को बिजली बेचे जाने से अर्जित नकद राशि तथा राष्ट्रीय सौर कार्यक्रम के पहले चरण के तहत सौर उर्जा की खरीद-बिक्री के लिए जिम्मेदार एजेंसी के भुगतान पर आधारित है । भारत सरकार ने एनवीवीएन के जरिये विशेष बिजली मूल्य प्रोत्साहन की शुरुआत की है ।
एक्स-इम बैंक ने आज की तारीख तक वित्त वर्ष 2011 के दौरान भारत में तीन अन्य परियोजनाओं के लिए अमेरिकी सौर उर्जा के निर्यात को वित्तीय राशि प्रदान की है या इसके लिए सहयोग किया है : राजस्थान की डालमिया सौर उर्जा परियोजना, राजस्थान की एज्यूर सौर उर्जा परियोजना और गुजरात प्रदेश में एसीएमई सौर प्रौद्योगिकी परियोजना ।
अबाउंड सोलर इंक. व्यावसायिक और उपयोगिता स्तर पर स्थापना के लिए थिन-फिल्म, कैडमियम-टेल्यूराइड सोलर माड्यूल्स की विनिर्माता कंपनी है । कंपनी के लांगमोंट, कोलंबिया स्थित विनिर्माण केंद्र पर फिलहाल 350 कर्मचारी कार्यरत हैं और कंपनी अपनी उत्पादन क्षमता बढ़ाने के लिए दूसरा संयंत्र टिपटान, इंड. में स्थापित करने की योजना बना रही है । अधिक जानकारी के लिए देखें http://www.abound.com/
पुंज लायड सोलर पावर लिमिटेड का अधिग्रहण पुंज लायड इन्फ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड द्वारा किया गया है जो सरकारी-निजी भागीदारी के तहत शुरुआती स्तर पर अधोसंरचना परियोजनाओं का विकास करती है । कंपनी भारत की सबसे बड़ी इंजीनियरिंग एवं निर्माण कंपनियों में से एक पुंज लिमिटेड की एक पूर्ण निजी सहायक कंपनी है । पुंज लायड ग्रुप एक विविधतापूर्ण समूह कंपनी है जो रक्षा क्षेत्र में इंजीनियरिंग और विनिर्माण क्षमताओं के साथ साथ उर्जा एवं अधोसंरचना के क्षेत्र में इंजीनियरिंग, खरीद तथा निर्माण सेवाओं की पेशकश करती है । अधिक जानकारी के लिए देखें http://www.punjlloydgroup.com/.
एक्स-इम बैंक के चेयरमैन हाचबर्ग भारत में एक साप्ताहिक व्यापारिक विकास कार्यक्रम चला रहे हैं जिसमें मंगलवार 19 जुलाई को नई दिल्ली में अमेरिका-भारत रणनीतिक वार्ता बैठक में भागीदारी भी शामिल है । इस बैठक की अध्यक्षता अमेरिकी गृह मंत्री हिलेरी राडमैन क्लिंटन करेंगी ।
एक्स-इम बैंक के बारे में : एक्स-इम बैंक एक स्वतंत्र संघीय एजेंसी है जो अमेरिकी करदाताओं से कोई राशि लिए बगैर वित्तीय सहायता प्रदान करते हुए निजी निर्यात की खाई को पाटती है और अमेरिकी रोजगार पैदा करने तथा बनाए रखने में मदद करती है । बैंक पूंजीगत गारंटी, निर्यात-क्रेडिट बीमा में काम करते हुए और विदेशी खरीदारों को अमेरिकी वस्तुएं एवं सेवाएं खरीदने में वित्तीय मदद करते हुए विभिन्न प्रकार के वित्तीय प्रबंधन उपलब्ध कराता है ।
बैंक ने अमेरिकी अक्षय उर्जा तथा अन्य पर्यावरण अनुकूल लाभकारी निर्यातों को बढ़ावा देने में सहयोग के लिए कांग्रेस से अनिवार्यता अधिकार हासिल किया है । 30 जून तक वित्त वर्ष 2011 के पहले नौ महीनों के दौरान एक्स-इम बैंक अक्षय उर्जा उत्पादों तथा सेवाओं के लिए तकरीबन 10 करोड़ डालर की राशि सहित अमेरिकी पर्यावरण अनुकूल लाभकारी निर्यातों का समर्थन करने के लिए लगभग 21.7 करोड़ डालर अधिकृत कर चुका है ।
जून तक वित्त वर्ष 2011 के दौरान एक्स-इम बैंक ने कुल 22 अरब डालर की राशि को मंजूरी दी है- जो आज की तारीख के लिए एक ऐतिहासिक रिकार्ड है और अमेरिकी निर्यात बिक्री के लिए 28.1 अरब डालर की सहायता प्रदान की है । इन बिक्रियों से पूरे अमेरिकी समाज में लगभग 189,700 रोजगार का सृजन होगा । अधिक जानकारी के लिए एक्स-इम बैंक की वेबसाइट देखें  http://www.exim.gov/
स्रोत : एक्सपोर्ट-इम्पोर्ट बैंक आफ यूनाइटेड स्टेट्स
संपर्क : भारत में : मौउरा पोलिसेली, मोबाइल 1 202 247 7840, वाशिंगटन डी. सी. में : लिंडा फारमेला, 1 202 565 3200 पीआरन्यूजवायर- एशियानेट : रंजन रंजन पीडब्ल्यूआर1 07182028 दि