एक्स-इम बैंक ने अमेरिका-भारत रणनीतिक वार्ता के दौरान उर्जा तथा अधोसंरचना परियोजनाओं में अमेरिकी कारोबार को हाइलाइट किया

स्रोत: Ex-Im Bank Asianet 45571
श्रेणी: General
 
 
 
19/07/2011 11:04:01:280PM
 
एक्स-इम बैंक ने अमेरिका-भारत रणनीतिक वार्ता के दौरान उर्जा तथा अधोसंरचना परियोजनाओं में अमेरिकी कारोबार को हाइलाइट किया 
नई दिल्ली, 19 जुलाई, 2011, पीआरन्यूजवायर- एशियानेट ।
भारत में 1.4 अरब डालर का कारोबार 10,000 अमेरिकी रोजगार सृजन को बढ़ावा देगा एक्सपोर्ट-इम्पोर्ट बैंक आफ यूनाइटेड स्टेट्स : एक्स-इम बैंक : के चेयरमैन और अध्यक्ष फ्रेड पी. हाचबर्ग भारत में इस हफ्ते व्यापारिक विकास अभियान का नेतृत्व कर रहे हैं । चेयरमैन हाचबर्ग ने दो नई सौर उर्जा परियोजनाओं के लिए एक्स-इम बैंक के 2.5 करोड़ डालर के कर्ज की घोषणा की और भारतीय खरीदारों द्वारा अमेरिकी वस्तुएं तथा सेवाएं खरीदनेमें सहयोग के लिए बैंक के वित्तीय उत्पादों को बढ़ावा दे रहे हैं ।
(Logo: http://photos.prnewswire.com/prnh/20110414/MM83673LOGO )
हाचबर्ग अमेरिकी विदेश मंत्री हिलेरी रादेम क्लिंटन की अध्यक्षता में अमेरिका-भारत रणनीतिक वार्ता के लिए आज नई दिल्ली में हैं ।
चेयरमैन हाचबर्ग ने कहा, ‘‘भारत अमेरिकी निर्यात के लिए एक प्रमुख देश है और एक्स-इम बैंक के लिए भी एक लगातार महत्वपूर्ण बाजार बनता जा रहा है । वित्त वर्ष 2011 के पहले नौ महीनों के दौरान बैंक ने अमेरिकी निर्यातकों और उनके भारतीय खरीदारों की ओर से कारोबार करने के लिए 1.4 अरब अमेरिकी डालर को मंजूरी दी है । इस वित्तीय व्यवस्था ने भारत में 5.5 अरब डालर के संपूर्ण इस्तेमाल को बढ़ाया है और 10,000 से अधिक अमेरिकी रोजगार को समर्थित किया है । मांग में इस तरह की हो रही वृद्धि से हम अनुमान लगाते हैं कि भारत अगले साल एक्स-इम बैंक का सबसे बड़ा एकल बाजार बन जाएगा ।’’ हाचबर्ग ने कहा, ‘‘विश्व के दो बड़े लोकतंत्र अमेरिका और भारत ने एक ठोस एवं विशेष भागीदारी कायम की है । इन परियोजनाओं में निवेश के व्यापक अवसर हैं जिनसे रोजगार सृजन होता है और भारत की बढ़ती उर्जा एवं अधोसंरचना जरूरतों को पूरा करने में मदद मिलती है ।’’ अक्षय उर्जा अक्षय उर्जा परियोजनाएं एक्स-इम बैंक के लिए शीर्ष प्राथमिकता हैं । 30 जून तक वित्त वर्ष 2011 के दौरान बैंक ने भारत में सौर कारोबार के लिए 7.5 करोड़ डालर को मंजूरी दी है जो लगभग 35 मेगावाट : एमडब्ल्यू : सौर उर्जा उत्पादित करेगा । बैंक ने आगामी भारतीय सौर उर्जा कारोबार के लिए भी तकरीबन 50 करोड़ डालर को मंजूरी दी है जिससे 315 मेगावाट सौर उर्जा का उत्पादन होगा । नई दिल्ली में हाचबर्ग ने दो अलग-अलग सौर कारोबार के लिए 2.5 करोड़ डालर से अधिक राशि आवंटित करने की घोषणा की है । एक्स-इम बैंक 16.5 वर्षीय कर्ज के तहत एज्यूर पावर राजस्थान प्राइवेट लिमिटेड को 1.6 करोड़ डालर दे रहा है जिसके तहत वह राजस्थान प्रदेश में पांच मेगावाट सौर फोटोवोल्टेइक संयंत्र के निर्माण के लिए टेम्प, एरिजोना स्थित फर्स्ट सोलर इंक. से थिन-फिल्म सोलर माड्यूल्स खरीदेगी ।
इसके अलावा, एक्स-इम बैंक ने लवलैंड, कोलंबिया स्थित अबाउंड सोलर इंक. से थिन-फिल्म सोलर माड्यूल्स के लिए 18 वर्षीय अवधि के तहत पुंज लायड सोलर पावर लिमिटेड को 92 लाख डालर को मंजूरी दी है ताकि राजस्थान में पांच मेगावाट का फोटोवोल्टेइक सौर उर्जा संयंत्र स्थापित किया जा सके ।
इस सप्ताह के बाद हाचबर्ग रिलायंस पावर लिमिटेड के चेयरमैन अनिल अंबानी से मुलाकात के लिए मुंबई की यात्रा पर जाएंगे । पिछले साल नवंबर में राष्ट्रपति ओबामा की भारत यात्रा के संदर्भ में एक्स-इम ने रिलायंस के साथ 5 अरब डालर के सहमति पत्र : एमओयू : पर दस्तखत किया जिसके तहत एक ऐसी उर्जा परियोजना के लिए अमेरिका निर्मित उपकरणों की खरीद की जाएगी जो 8,000 मेगावाट बिजली उत्पादित करेगी । इस परियोजना के लिए एमओयू में अमेरिकी विनिर्माताओं और सेवा प्रदाताओं से अक्षय उर्जा : सौर एवं वायु : उपकरणों की खरीद को शामिल किया गया है जिससे 900 मेगावाट की स्वच्छ उर्जा उत्पादित होगी ।
अधोसंरचना नई दिल्ली में हाचबर्ग रेल एवं उर्जा परियोजनाओं पर चर्चा के लिए जनरल इलेक्ट्रिक कंपनी के अधिकारियों के साथ मुलाकात करेंगे । मुंबई में हाचबर्ग पूरे भारत की कई अधोसंरचना परियोजनाएं चलाने के सामूहिक प्रयास पर चर्चा के लिए इन्फ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट फाइनेंस कारपोरेशन :आईडीएफसी : के अधिकारियों से मुलाकात करेंगे । यह संबंध एक्स-इम बैंक द्वारा कुछ दिन पहले आईडीएफसी का नौ भारतीय वित्तीय संस्थानों में से एक संस्थान के तौर पर चयन के तहत बना है जिसके तहत भारत में 2.45 अरब डालर के अधोसंरचना केंद्र की स्थापना के लिए भागीदारी की जाएगी ।
पहुंच हाचबर्ग वित्तीय अक्षय उर्जा तथा अधोसंरचना परियोजनाओं में एक्स-इम की भूमिका पर चर्चा के लिए इंडियन मचेर्र्ेंट चैंबर, भारतीय स्टेट बैंक, टाटा कैपिटल, सिटीबैंक इंडिया और आईसीआईसीआई बैंक के अधिकारियों से भी मुंबई में मिलेंगे ।
एक्स-इम बैंक के बारे में : एक्स-इम बैंक एक स्वतंत्र संघीय एजेंसी है जो अमेरिकी करदाताओं से कोई राशि लिए बगैर वित्तीय सहायता प्रदान करते हुए निजी निर्यात की खाई को पाटती है और अमेरिकी रोजगार पैदा करने तथा बनाए रखने में मदद करती है । बैंक पूंजीगत गारंटी, निर्यात-क्रेडिट बीमा में काम करते हुए और विदेशी खरीदारों को अमेरिकी वस्तुएं एवं सेवाएं खरीदने में वित्तीय मदद करते हुए विभिन्न प्रकार के वित्तीय प्रबंधन उपलब्ध कराता है ।
जून तक वित्त वर्ष 2011 के पहले नौ महीनों के दौरान एक्स-इम बैंक ने अक्षय उर्जा उत्पादों तथा सेवाओं के लिए तकरीबन 10 करोड़ डालर की राशि सहित अमेरिकी पर्यावरण अनुकूल लाभकारी निर्यातों में वित्तीय सहायता के लिए 21.5 करोड़ डालर की राशि को मंजूरी दी है ।
30 जून 2011 तक एक्स-इम बैंक ने कुल 1.4 अरब डालर के 173 भारत संबंधी समझौतों को मंजूरी दी है और 10,000 से अधिक अमेरिकी रोजगार का समर्थन किया है ।
जून तक वित्त वर्ष 2011 के दौरान एक्स-इम बैंक ने कुल 22 अरब डालर की राशि को मंजूरी दी है- जो आज की तारीख के लिए एक ऐतिहासिक रिकार्ड है और अमेरिकी निर्यात बिक्री के लिए 28.1 अरब डालर की सहायता प्रदान की है । इन बिक्रियों से पूरे अमेरिकी समाज में लगभग 189,700 रोजगार का सृजन होगा । अधिक जानकारी के लिए एक्स-इम बैंक की वेबसाइट देखें http://www.exim.gov स्रोत : एक्सपोर्ट-इम्पोर्ट बैंक आफ यूनाइटेड स्टेट्स
संपर्क : भारत में : मौउरा पोलिसेली, मोबाइल 1 202 247 7840, वाशिंगटन डी. सी. में : लिंडा फारमेला, 1 202 565 3200 पीआरन्यूजवायर- एशियानेट : रंजन रंजन पीडब्ल्यूआर4 07190900 दि