अल्जाइमर्स एसोसिएशन ने अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन के लिए राष्ट्रपति निकोलस सरकोजी का स्वागत किया

स्रोत: Alzheimer”s Ass. Asianet 45537
श्रेणी: Medical and Health Care
 
 
 
21/07/2011 7:19:48:777AM
 
अल्जाइमर्स एसोसिएशन ने अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन के लिए राष्ट्रपति निकोलस सरकोजी का स्वागत किया
 पेरिस, 20 जुलाई, 2011, पीआरन्यूजवायर- एशियानेट ।
आज फ्रांस के राष्ट्रपति निकोलस सरकोजी अल्जाइमर के क्षेत्र में विश्व के प्रमुख वैज्ञानिकों द्वारा प्रस्तुत किए जाने वाले नवीनतम शोध के लिए आयोजित प्रमुख सालाना सम्मेलन अल्जाइमर्स एसोसिएशन इंटरनेशनल कान्फ्रेंस 2011 : एएआईसी 2011 : को संबोधित करेंगे । अल्जाइमर और मनोरोग का प्रभाव एक अंतरराष्ट्रीय संकट बन गया है । वर्तमान आकलन बताता है कि वैश्विक स्तर पर 3.6 करोड़ लोग मनोरोग से पीड़ित हैं और यह संख्या वर्ष 2030 तक दोगुनी तथा वर्ष 2050 तक तीन गुनी से ज्यादा हो जाएगी । मनोरोग से पीड़ित लोगों की देखभाल पर खर्च इसकी मौजूदगी की तुलना में तेजी से बढ़ रहा है तथा यह खेदजनक है कि ज्यादातर सरकारें इस रोग के कारणों के सामाजिक तथा आर्थिक स्थितियों से निपटने के लिए तैयार नहीं हैं । हालांकि राष्ट्रपति सरकोजी के नेतृत्व में फ्रांस एक ऐसा विकसित देश है और फ्रांस में अल्जाइमर के जन स्वास्थ्य खतरे से निपटने के लिए एक समग्र रणनीति लागू कर रहा है ।
वर्ष 2008 में पेश फ्रेंच अल्जाइमर प्लान अल्जाइमर के संकट से मुकाबले के लिए बनाया गया है और यह तीन स्तंभों पर खड़ा है : मनोरोग से पीड़ित लोगों और उनके परिवारों के जीवन की गुणवत्ता में सुधार लाने के लिए, अल्जाइमर के खिलाफ मुकाबले के लिए फ्रांसीसी समाज को प्रेरित करने के लिए तथा शोध में विकास के प्रयास तेज करने के लिए । कुल मिलाकर इस योजना में 11 उद्देश्यों की सूची बनाई गई है और योजना के सफल क्रियान्वयन के लिए 40 से अधिक विस्तृत उपायों को शामिल किया गया है ।
अल्जाइमर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैरी जान्स ने कहा, ‘‘चूंकि अमेरिका ने खुद का नेशनल अल्जाइमर्स प्लान को विकसित करने का बीड़ा उठाया है इसलिए फ्रेंच अल्जाइमर प्लान एक माडल के तौर पर विकसित हो सकता है और इसे इसी तरह विकसित किया जाना चाहिए । अल्जाइमर को खत्म करने का राष्ट्रपति सरकोजी का व्यक्तिगत समर्पण और उनकी प्रतिबद्धता ने संपूर्ण देश को इस रोग के चरम पर पहुंच जाने से पहले इस पर विजय हासिल करने की ओर ध्यान आकषिर्त करने के लिए प्रेरित करने में मदद की है और भविष्य के वषरें में इसके प्रभाव को कम करने में मदद की है ।’’ अब अपने तीसरे वर्ष में पहुंच चुका फ्रेंच अल्जाइमर्स प्लान अल्जाइमर के बारे में वैज्ञानिक जानकारी का विस्तार पाने के नतीजे के तौर पर सामने आया है जिसमें क्लिनिकल महामारी विज्ञान में 600 से अधिक प्रैक्टिसनरों को प्रशिक्षित किया जाना और थेराप्यूटिक्स, मानव एवं सामाजिक विज्ञान में 100 से अधिक मूलभूत शोध परियोजनाएं शुरू करना शामिल है । 65 नए मेमोरी क्लिनिकों को शुरू करने का मकसद इसके तहत शुरुआती लक्षण जानने पर केंद्रित होना तथा पूरे देश में 500 से अधिक नए निदान केंद्र खोलने का प्रयास करना है । अल्जाइमर मरीजों की देखभाल करने वालों को मदद करने के लिए सुकूनदायी देखभाल केंद्रों की संख्या बढ़ाई गई है । सरकोजी प्रशासन ने इस प्रक्रिया को गति देने के लिए सरकारी और निजी क्षेत्रों के बीच सहयोग क्षेत्रों की पहचान करने के लिए महत्वपूर्ण कार्य भी किए हैं ।
जान्स ने कहा, ‘‘अल्जाइमर के कारण जीवन में उथल-पुथल तथा परिवार और देश पर आर्थिक बोझ बन जाने का अनुभव महसूस करने वाले लोगों की बड़ी संख्या ने अल्जाइमर को इक्कीसवीं सदी का सार्वजनिक स्वास्थ्य खतरा बना दिया है । शीर्ष नेतृत्व के लिए इस बड़ी संख्या की बीमारी से निपटना गंभीर हो गया है और जहां कहीं 5ीा ठोस सरकारी प्रतिबद्धता जताई गई है वहां इसके लिए महत्वपूर्ण प्रगतिशील कार्य किए गए हैं । फ्रांस में हमने यह भी देखा कि एक पूर्ण विकसित रणनीति महज शुरुआत है : इस रणनीति और जिम्मेदारी का ठोस क्रियान्वयन सफलता का शिखर छू चुका है और यह अमेरिका के लिए भी अहम सबक है जो नेशनल अल्जाइमर्स प्लान के विकास और क्रियान्वयन को लेकर प्रतिबद्ध है ।’’ नेशनल अल्जाइमर्स प्रोजेक्ट एक्ट को कानून बनाने के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा द्वारा 4 जनवरी 2011 को इस पर दस्तखत किया गया और इससे पहले सीनेट तथा हाउस आफ रिप्रजेंटेटिव दोनों ने सर्वसम्मति से इस अधिनियम को मंजूरी दी । इसके तहत अमेरिका में राष्ट्रीय रणनीति योजना के विकास की जरूरत बताई गई ताकि अल्जाइमर के संकट से निपटा जा सके और संघीय सरकार में साझा प्रयासों को लागू किया जा सके । इसके कुछ प्रमुख लक्ष्यों में उपचार के विकास को गति देना भी शामिल है जिससे अल्जाइमर को रोका जा सके, इस पर काबू पाया जा सके और अंकुश लगाया जा सके तथा अल्जाइमर के केयर और उपचार के बीच साझेदारी को बल मिल सके । इसके लए अमेरिकी सरकार को भी अंतरराष्ट्रीय निकायों के साथ मिलकर काम करने की जरूरत है ताकि वैश्विक स्तर पर अल्जाइमर के खिलाफ एकजुट होकर इस प्रयास को व्यापक बनाया जा सके ।
एएआईसी के बारे में अल्जाइमर्स एसोसिएशन इंटरनेशनल कान्फ्रेंस : एएआईसी : अपनी तरह का विश्व का सबसे बड़ा सम्मेलन है जो अल्जाइमर रोग तथा इससे संबंधित गड़बड़ियों के कारण, निदान, उपचार तथा रोकथाम के बारे में सफल शोध एवं जानकारी पर रिपोर्ट पेश करने तथा चर्चा करने के लिए पूरी दुनिया के शोधकर्ताओं को एक मंच पर लाता है । अल्जाइमर्स एसोसिएशन के शोध कार्यक्रम के एक हिस्से के तौर पर एएआईसी मनोरोग के बारे में नई जानकारी जुटाने के लिए एक उत्प्रेरक का काम करता है और एक अहम तथा कालेज स्तरीय शोध समुदाय को प्रेरित करता है ।
अल्जाइमर्स एसोसिएशन के बारे में अल्जाइमर्स एसोसिएशन विश्व में अल्जाइमर पीड़ितों की देखभाल, समर्थन और इस पर शोध करने वाली एक अग्रणी स्वैच्छिक स्वास्थ्य संस्था है । हमारा उद्देश्य अल्जाइमर रोग को शोध में आधुनिकता लाने के जरिये खत्म करने का है और सभी प्रभावितों के लिए देखभाल तथा सहयोग प्रदान करना एवं बढ़ाना है और मस्तिष्क स्वास्थ्य को उन्नत बनाने के जरिये मनोरोग के खतरे को कम करना है । हमारा नजरिया विश्व को अल्जाइमर विहीन बनाने का है । देखें http://www.alz.org या काल करें 800 272 3900
स्रोत : अल्जाइमर्स एसोसिएशन संपर्क : अल्जाइमर्स एसोसिएशन मीडिया लाइन : 1 312 335 4078, मीडिया एट एएलजेड डाट ओआरजी, एएआईसी 2011 प्रेस रूम, 16-21 जुलाई : 33 :0: 57 25 20 35 पीआरन्यूजवायर- एशियानेट : रंजन रंजन पीडब्ल्यूआर3 07202124 दि