पोलैरिस का राजस्व 28 प्रतिशत बढ़ा

स्रोत: Polaris Asianet 45601
श्रेणी: High Technology
 
 
 
21/07/2011 7:32:36:730AM
 
पोलैरिस का राजस्व 28 प्रतिशत बढ़ा
चेन्नई, भारत, 20 जुलाई, पीआरन्यूजवायर- एशियानेट ।
– तिमाही राजस्व ने 10 करोड़ डालर का आंकड़ा छुआ वैश्विक स्तर की एक अग्रणी वित्तीय प्रौद्योगिकी कंपनी पोलैरिस साफ्टवेयर लैब लिमिटेड : पोल्स डाट बीओ : ने आज वित्त वर्ष 2011-12 की पहली तिमाही के नतीजों की घोषणा की ।
प्रदर्शन के प्रमुख मानदंड डालर के हिसाब से राजस्व वषर्-दर-वर्ष आधार पर 28 प्रतिशत बढ़ते हुए 10.065 करोड़ अमेरिकी डालर से 7.89 करोड़ अमेरिकी डालर हो गया और तिमाही दर तिमाही आधार पर 4 प्रतिशत बढ़ते हुए 9.66 करोड़ अमेरिकी डालर से बढ़कर 10.065 करोड़ अमेरिकी डालर हो गया । परिचालन लागत : ईबीआईटीडीए : वर्ष दर वर्ष 14 प्रतिशत बढ़ते हुए 1.247 करोड अमेरिकी डालर से 1.420 करोड़ अमेरिकी डालर हो गया जबकि तिमाही दर तिमाही आधार पर यह 10 प्रतिशत बढ़ते हुए 128.5 लाख अमेरिकी डालर से 142 लाख अमेरिकी डालर हो गया । कर अदायगी के बाद इसका लाभ : पीएटी : वर्ष दर वर्ष आधार पर 2 प्रतिशत घटा और यह 102 लाख अमेरिकी डालर से घटकर 99.7 लाख अमेरिकी डालर रह गया तथा तिमाही आधार पर यह 127.2 लाख अमेरिकी डालर से घटकर 99.7 लाख अमेरिकी डालर रह गया ।
30 जून 2011 की तिमाही की समाप्ति के मुख्य अंश – पोलैरिस उत्पादों का राजस्व 230 लाख अमेरिकी डालर को पार कर गया, 11 नए विशिष्ट उत्पादों के लिए इस तिमाही में रिकार्ड जीत दर्ज हुई । – अमेरिका ने तिमाही के राजस्व में 46.78 प्रतिशत, यूरोप ने 24.95 प्रतिशत, आईएमईए ने 11.73 प्रतिशत और एशिया प्रशांत ने 16.53 प्रतिशत का योगदान किया । – पोलैरिस ने इस तिमाही के दौरान 550 लाख अमेरिकी डालर मूल्य के सौदे के लिए एक केंद्रीकृत कोर बैंकिंग समाधान लागू करने के उद्देश्य से भारतीय रिजर्व बैंक के साथ अपने सबसे बड़े विशिष्ट समझौते पर हस्ताक्षर किया । – पोलैरिस ने बांग्लादेश के सोनाली बैंक और बीसीबीएल के साथ मिलकर देश में एफटी सेवाओं की पेशकश के लिए एक साझा उपक्रम कंपनी सोनाली पोलैरिस फाइनेंशियल टेक्नोलाजी लिमिटेड : एसपीएफटीएल : के गठन के उद्देश्य से एक एमओयू पर दस्तखत किया । – पोलैरिस ने दो नए उत्पाद पेश किए : 1. अमेरिका के एकोर्ड लोमा में बीमा सेक्टर के लिए अब तक का पहला क्लाउड-रेडी प्लेटफार्म और 2. मिडल ईस्ट फाइनेंशियल टेक्नोलाजी एक्जीबिशन एंड कान्फ्रेंस : एमईएफटीईसी 2011 : के दौरान बीएएसईएल थर्ड अनुपालन के साथ इंटेलेक्ट लिक्विडिटी रिस्क मैनेजमेंट : एलआरएम : समाधान ।
संस्थापक, चेयरमैन और मुख्य कार्यकारी अधिकारी अरुण जैन ने कहा, ‘‘यूरोप तथा अमेरिका में इंटेलेक्ट की सफलता के बाद हमारा मुख्य प्रयास एशिया के लिए रहा है जिसके नतीजतन ‘लाइटहाउस’ आरबीआई जीत और बांग्लादेश के सबसे बड़े बैंक के साथ एक साझा उपक्रम चलाया जा रहा है । इस क्षेत्र में इंटेलेक्ट के लिए कंपनी को निर्णायक जीत मिली है और समझौते के आकार की स्वस्थ परंपरा के जरिये यह लगातार बढ़ती जा रही है, हम उत्पादों के समझौतों में बेहतर लाभ का अनुमान लगा सकते हैं जो हमें वैश्विक वित्तीय प्रौद्योगिकी प्रमुख बनने के अपने नजरिये को गति प्रदान करेगा ।’’ पोलैरिस साफ्टवेयर के अध्यक्ष एवं सीएफओ आर. श्रीकांत ने कहा, ‘‘शोध एवं विकास में हमारे अत्यधिक निवेश के बावजूद हम स्थिर ईबीआईडीटीए लाभ अर्जित कर पाए हैं । हम अपने राजस्व निर्देशन को 42.5 करोड़ – 43.5 करोड़ अमेरिकी डालर से 43 करोड़-44 करोड़ अमेरिकी डालर करने जा रहे हैं ।’’ अधिक जानकारी इस साइट पर देखें http://www.polarisft.com/media/media-release/2011-july-press-release-Q1-FY-2011-12.pdf
द्विपायन देब टेलीफोन : 91 9962536442 ई-मेल : द्विपायन डाट डी एट पोलैरिस डाट को डाट इन स्रोत : पोलैरिस साफ्टवेयर लैब लिमिटेड पीआरन्यूजवायर- एशियानेट : रंजन रंजन पीडब्ल्यूआर6 07202155 दि