एनटीटी काम विदेशों में डीडीओएस के हमलों से बचाव तथा टोक्यो में पीओपी की मजबूती के लिए क्लाउड आधारित ट्रैफिक एनालिसिस सिस्टम का विस्तार करेगी

स्रोत: NTT Com Asisnet
श्रेणी: High Technology
 
 
 
08/09/2011 3:08:20:967PM
 
एनटीटी काम विदेशों में डीडीओएस के हमलों से बचाव तथा टोक्यो में पीओपी की मजबूती के लिए क्लाउड आधारित ट्रैफिक एनालिसिस सिस्टम का विस्तार करेगी टोक्यो, 7 सितंबर, क्योदा जेबीएन- एशियानेट ।
एनटीटी कम्युनिकेशंस कारपोरेशन : एनटीटी काम : ने 7 सितंबर को घोषणा की कि वह आस्ट्रेलिया, फ्रांस, जर्मनी, हांगकांग, मलेशिया, सिंगापुर, दक्षिण कोरिया, ताईवान, नीदरलैंड तथा ब्रिटेन में वितरित डिनायल-आफ -सर्विस : डीडीओएस : के लिए क्लाउड आधारित ट्रैफिक विश्लेषण पेश करते हुए अपनी वैश्विक आईपी नेटवर्क सेवा को विस्तार देगी । इस सेवा के लिए आवेदन 15 सितंबर से स्वीकार किए जाएंगे ।
एनटीटी काम ने यह भी घोषणा की है कि इसने प्वाइंट आफ प्रेजेंस : पीओपी : को अपग्रेड कर लिया है और इसे टोक्यो में उच्च गुणवत्ता वाली वैश्विक सेवा के लिए क्रियान्वित करेगी ।
एनटीटी काम डीडीओएस की शुरुआत के लिए अपनी क्लाउड आधारित ट्रैफिक विश्लेषण प्रणाली की जुलाई 2009 से जापान में पेशकश कर रही है जिसे ट्रैफिक एनालिसिस सिस्टम नाम दिया गया है । यह सिस्टम ग्राहकों को आईएसपी तथा प्रबंधन की जिम्मेदारी निभा रहे डाटा सेंटर आपरेटरों सहित आईपी नेटवर्क्‍स पर बढ़ते हमले रोकने के लिए अधिक सक्षम बनाएगा । जापान की नेशनल पालिसी एजेंसी के मुताबिक डीडीओएस हमलों के कारण वैश्विक स्तर पर वर्ष 2010 में नुकसान काफी बढ़ गया है जिनमें सबसे ज्यादा 80 प्रतिशत हमले अमेरिका और चीन में हुए हैं जबकि इसके बाद तुर्की, सिंगापुर और दक्षिण कोरिया इसका शिकार हुए हैं । एक अंतरराष्ट्रीय आधार पर डीडीओएस के लिए ट्रैफिक एनालिसिस की पेशकश करने का एनटीटी काम का फैसला इस परंपरा का प्रत्यक्ष परिणाम देता है ।
वैश्विक आईपी नेटवर्क सेवा की पेशकश एक समर्पित वेब पोर्टल के जरिये एक वैकल्पिक सेवा के तौर पर की जाएगी । ग्राहकों के नेटवर्क पर ट्रैफिक की निगरानी डीडीओएस की खोज तथा विश्लेषण के लिए 24 घंटे सातों दिन रखी जाती है । किसी भी डीडीओएस हमले की रिपोर्ट ग्राहकों तक बड़ी तत्परता के साथ दी जाती है । यह सेवा नेटवर्क सुरक्षा में भी इजाफा करती है जिसके लिए डीडीओएस हमलों का विश्लेषण किया जाता है ताकि ग्राहकों को डीडीओएस हमलों के खिलाफ उनके सर्वरों तथा रूटरों की रक्षा के लिए मदद की जा सके । एनटीटी काम और स्वैच्छिक सहायता करने वाली कंपनियों द्वारा संचालित परीक्षणों में पाया गया है कि यह सेवा ग्राहकों की डीडीओएस निगरानी में कमी ला सकती है और आपरेशन के विश्लेषण को 75 प्रतिशत तक बढ़ा सकती है ।
वैश्विक आईपी नेटवर्क सेवा स्वायत्त प्रणालियों, आईपी एड्रेसेज, पोर्ट आदि के संदर्भ में भी ट्रैफिक का विश्लेषण करती है । ग्राहकों को अतिरिक्त नेटवर्क संवर्धन की उनकी जरूरतें बेहतर ढंग से समझने की खातिर उन्हें अपनी नेटवर्क ट्रैफिक स्थिति का पता लगाने में मदद के लिए विस्तृत जानकारी ग्राफिकल डिस्प्ले फारमेट में उपलब्ध कराई गई है । एनटीटी काम तथा स्वैच्छिक सहायता करने वाली कंपनियों द्वारा संचालित परीक्षणों में पाया गया है कि यह सेवा संबंधित ट्रैफिक विश्लेषण में कमी ला सकती है और ग्राहकों के लिए आपरेशन में 90 प्रतिशत तक की वृद्धि कर सकती है ।
एनटीटी काम ने 7 सितंबर को एक्विनिक्स डाटा सेंटर में अपने पीओपी को भी अपग्रेड कर लिया है और 26 नवंबर को टोक्यो डाटा सेंटर में अपना नया पीओपी लांच करने की योजना बनाई है, यह दोनों प्रक्रिया टोक्यो में अपनाई गई है । इन दोनों केंद्रों से जापान तथा विदेशों में मौजूद कंटेंट प्रदाताओं, आईएसपी तथा टेलीकाम कैरियर्स सहित बड़े पैमाने पर ग्राहकों की जरूरतें पूरी किए जाने की उम्मीद की जा रही है ।
एनटीटी काम की वैश्विक आईपी नेटवर्क सेवा एशिया, ओसिनिया, यूरोप तथा अमेरिका में संचालित होने वाली एक हाई-स्पीड ब्राडबैंड आईपी संचार सेवा है । यह सीधे तौर पर कंपनी के वैश्विक टीयर-1 आईपी बैकबोन से जुड़ती है जो अमेरिका-जापान ट्रैफिक के लिए 520 जीबीपीएस, जापान-एशिया, ओसिनिया के लिए 421 जीबीपीएस, जापान-यूरोप के लिए 77 जीबीपीएस तथा यूरोप-अमेरिका के लिए 100 जीबीपीएस सहित तेज और विश्वसनीय डाटा पारेषण के लिए शीर्ष स्तरीय बैंडविड्थ का गौरव रखता है । आईपीवी4 तथा आईपीवी6 दोनों को समर्थित् करने वाला नेटवर्क इस जून में आयोजित वर्ल्ड आईपीवी6 दिवस के परीक्षण के मुख्य नेटवर्क्‍स में से एक रहा है । एनटीटी काम का वैश्विक टीयर-1 आईपी बैकबोन समकक्ष संबंधों का इस्तेमाल सिर्फ ट्रैफिक का अधिग्रहण करने और इसे आगे बढ़ाने के लिए करता है और यह ट्रैफिक के लिए अपने अंतिम विकल्प ठिकाने के तौर पर किसी अन्य आईएसपी पर निर्भर नहीं रहता है ।
एनटीटी कम्युनिकेशंस कारपोरेशन के बारे में कृपया देखें
www.ntt.com/index-e.html