विश्व आत्महत्या रोकथाम दिवस 2011

स्रोत: IASP Asianet 46212
श्रेणी: Medical and Health Care
 
 
 
12/09/2011 2:27:32:660PM
 
विश्व आत्महत्या रोकथाम दिवस 2011
हांगकांग, 10 सितंबर, मीडियानेट इंटरनेशनल- एशियानेट ।
इंटरनेशनल एसोसिएशन फार सुसाइड प्रिवेंशन : आईएएसपी : तथा विश्व स्वास्थ्य संगठन 10 सितंबर को विश्व आत्महत्या रोकथाम दिवस के तौर पर मना रहे हैं । इससे संबंधित कार्यक्रम प्रत्येक महाद्वीप में आयोजित किए जा रहे हैं ।
इंटरनेशनल एसोसिएशन फार सुसाइड प्रिवेंशन :आईएएसपी : और विश्व स्वास्थ्य संगठन : डब्ल्यूएचओ : 10 सितंबर को हर साल विश्व आत्महत्या रोकथाम दिवस का मिलकर प्रायोजन करते हैं । इस वर्ष के कार्यों में शामिल होंगे : भारत के बंगलुरू में एक शैक्षणिक सेमीनार, कनाडा के पार्लियामेंट हिल में जीवन महोत्सव का एक इन्यूट जश्न, मलेशिया में कार्यकर्ताओं के लिए कार्यशालाएं, आस्ट्रेलिया तथा अमेरिका में असंख्य लोगों का मार्च और आयरलैंड में हजारों लालटेन जलाकर रैली निकालना ।
विश्व स्वास्थ्य संगठन : डब्ल्यूएचओ : का अनुमान है कि प्रति वर्ष दस लाख लोग आत्महत्या करके अपनी जान गंवाते हैं । यह संख्या वैश्विक स्तर पर प्रति 100,000 व्यक्तियों की मृत्यु दर में 16 व्यक्तियों के बराबर है यानी प्रति 40 सेकंड में एक मौत होती है या रोजाना आत्महत्या की घटना के तहत तकरीबन 3,000 लोगों की मौत होती है । जो लोग आत्महत्या कर मरते हैं, उनमें से प्रत्येक व्यक्ति द्वारा अपनी जीवनलीला का अंत करने के लिए औसतन 20 या अधिक बार इसके प्रयास किए जाते हैं ।
आईएएसपी के अध्यक्ष डा. लैनी बरमन कहते हैं, ‘‘इस वर्ष 10 सितंबर 2011 को आयोजित विश्व आत्महत्या निरोधक दिवस का थीम ‘‘विविधतापूर्ण समाज में आत्महत्या की प्रवृत्ति को रोकना’’ होगा । जैसे जैसे हम राष्ट्रीय और स्थानीय स्तर पर आत्महत्या रोकने के लिए बीच-बचाव की रणनीतियां विकसित और क्रियान्वित करेंगे, हमें उन सांस्कृतिक तथ्यों के बारे में भी सचेत रहने की जरूरत पड़ेगी जिनका असर विभिन्न व्यवस्थाओं में आत्महत्या की प्रवृत्ति पर पड़ता है ।’’ डा. बरमन आगे कहते हैं, ‘‘हमने आत्महत्या की रोकथाम के लिए अपनी पूर्व निर्धारित प्रक्रियाओं के सकारात्मक नतीजे देखे हैं । मसलन, हांगकांग में सुपरमारकेट की शृंखला में चारकोल की बिक्री पर रोक लगाने से चारकोल जलाकर आत्महत्या की दर में महत्वपूर्ण कमी देखी गई है और जिला स्तर पर आत्महत्या की रोकथाम के लिए कोई संगठित समुदाय आत्महनन और आत्महत्या करने की दर पर सकारात्मक असर प्रदर्शित करता है ।’’ उन्होंने कहा, ‘इसके अलावा हमारे पास अच्छा साक्ष्य यह है कि जब हमारे नेता आत्महत्या रोकने को पूरी प्रणाली में एक मुख्य फोकस बना लेते हैं तो आत्महत्या की दर में कमी आती है, जैसा कि अमेरिकी वायुसेना में हुआ है । हम यह भी जानते हैं कि आत्महत्या और आत्महत्या के प्रयासों की दर में आश्चर्यजनक कमी तभी आ पाई है जब पहचान करने में सुधार तथा अवसादग्रस्त लोगों की देखभाल पर केंद्रित कार्यक्रम लागू किए जाते हैं ।’’ ‘‘आस्ट्रेलिया में सख्त आग्नेयास्त्र कानून आग्नेयास्त्रों से की जाने वाली आत्महत्या की दर में महत्वपूर्ण कमी लाने से जुड़ा हुआ है । और इंग्लैंड में बिना आजमायी हुई दवाओं के विशेष पैकेजिंग के जरिये इन्हें पाने पर सख्त पाबंदी की बदौलत जान बूझकर अत्यधिक मात्रा में सेवन कर आत्महत्या या मृत्यु की संख्या में कमी लाई गई है ।’’ ‘‘ये चंद उदाहरण बताते हैं कि यदि हम सांस्कृतिक तत्वों पर ध्यान दें तो हम आत्महत्या की रोकथाम, इस बारे में समझने तथा इसके प्रयासों में रोकथाम के लिए खासी सफलता हासिल कर सकते हैं ।’’ आईएएसपी उम्मीद करती है कि इस वर्ष की गतिविधियां पूरी दुनिया के 40 देशों में आयोजित की जाएंगी । इसके अलावा इस संगठन ने 40 से अधिक लैंग्वेजेज में वर्ल्ड सुसाइड प्रिवेंशन डे के बैनर तैयार किए हैं जिन्हें ब्लागर अपनी-अपनी लैंग्वेज में स्थानीय तथा वैश्विक स्तर पर आत्महत्या निरोधक जागरूकता बढ़ाने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं ।
आईएएसपी लोगों को 10 सितंबर को रात 8 बजे अपने घर की खिड़की के पास एक मोमबत्ती जलाकर रखने के लिए प्रेरित कर रही है ताकि आत्महत्या की रोकथाम के लिए उनका समर्थन स्पष्ट हो सके और आत्महत्या कर लेने वाले अपने किसी प्रियजन को याद कर सकें तथा उनके आत्महत्या करने से शोकसंतप्त होने का अहसास करा सकें । सुझाई गई गतिविधियों की सूची आईएएसपी के वर्ल्ड सुसाइड प्रिवेंशन डे पन्ने पर उपलब्ध है । आईएएसपी वर्ल्ड सुसाइड प्रिवेंशन डे http://www.iasp.info/wspd/
प्रेस सूचना के लिए कृपया संपर्क करें : अध्यक्ष – डा. लैनी बरमन :अमेरिका: मोबाइल : 13016615095 डा. एथोनी डेविस :आस्ट्रेलिया: मोबाइल : 61402247096 प्रो. पाल यिप :हांगकांग: मोबाइल : 85222415017 डा. एला एरेंसमैन :यूरोप: मोबाइल : 353870522284 प्रो. माइकल फिलिप्स :चीन: मोबाइल : 8618917192966 संगठन संबंधी जानकारी- सुश्री वंदा स्काट मोबाइल : 447824995567 स्रोत : द इंटरनेशनल एसोसिएशन फार सुसाइड प्रिवेंशन :आईएएसपी: मीडियानेट इंटरनेशनल-एशियानेट : रंजन रंजन पीडब्ल्यूआर1 09100928 दि