भारत की बूढ़ी होती आबादी के मुद्दे पर चर्चा के लिए निवेशक, डेवलपर्स और व्यापारिक प्रमुख दिल्ली में मिलेंगे

स्रोत: IMAPAC Asianet 46517
श्रेणी: Building and Construction
 
 
 
27/09/2011 9:55:38:927PM
 
भारत की बूढ़ी होती आबादी के मुद्दे पर चर्चा के लिए निवेशक, डेवलपर्स और व्यापारिक प्रमुख दिल्ली में मिलेंगे
दिल्ली, भारत, 27 सितंबर, 2011, पीआरन्यूजवायर- एशिया- एशियानेट । भारत और शेष विश्व में आवासीय उद्योग से जुड़े वरिष्ठ प्रमुख 7 से 9 दिसंबर 2011 को रिटायरमेंट लिविंग वर्ल्ड इंडिया 2011 सम्मेलन के लिए एकजुट होंगे । यह कार्यक्रम एसिस्टेड लिविंग फेडरेशन आफ अमेरिका : एएलएफए : द्वारा समर्थित किया जाएगा ।
भारत के बुजुर्गों की आबादी बड़ी तेजी से बढ़ रही है । वर्ष 2020 तक अनुमान लगाया जाता है कि यह आबादी दोगुनी होकर 17.70 करोड़ हो जाएगी और वर्ष 2050 तक वृद्धि जारी रहते हुए यह आबादी 24 करोड़ तक पहुंच जाएगी । हालांकि अब ये बुजुर्ग अपने परिवारों पर निर्भर नहीं हैं । उनकी बच्चे और भारत की आर्थिक गतिविधियों में सर्वाधिक सक्रिय समूह कैरियर के अवसर तलाशने के लिए शहरी क्षेत्रों और विदेशों की ओर रुख कर रहे हैं जिससे 60 प्रतिशत भारतीय परिवार एकल परिवार हो गए हैं । इस प्रकार परंपरागत परिवार समर्थन प्रणाली खत्म हो रही है । लिहाजा अब बुजुर्ग अपने बच्चों की वित्तीय क्षमता के सहयोग से देखभाल के बाहरी स्रोतों पर निर्भर रहने लगे हैं जिससे रिटायरमेंट होम्स की जरूरत और मांग बढ़ती जा रही है ।
इन बढ़ती मांगों को पूरा करने के लिए रियल एस्टेट की सबसे बड़ी डेवलपर्स कंपनियां : आशियाना हाउसिंग एवं परांजपे स्कीम्स : तथा स्वास्थ्य सेवा संचालक : फोर्टिस हेल्थकेयर : भारतीय प्रायद्वीप में रिटायमेंट होम्स की शृंखला विकसित कर रहे हैं । आशियाना हाउसिंग के संयुक्त प्रबंध निदेशक अंकुर गुप्ता ने कहा, ‘‘सहयोगी सेवाओं के जरिये ये आवास नियमित हाउसिंग की तुलना में उच्च मूल्य रखते हैं । रिटायरमेंट होम्स जीवनशैली उत्पाद हैं जिनका व्यापारिक मूल्य है ।’’ उन्होंने भारतीय वरिष्ठ नागरिकों के आवास उद्योग की संभावना पर भी प्रकाश डाला ।
इस नए बाजार में प्रवेश के लिए प्रयासरत नई कंपनियों को देखते हुए भागीदारी गतिविधियों के विकास की संभावना जताई गई है । वर्ष 2009 में वन एट्टी तथा अमोक्ष लेजर लिविंग की अंतरराष्ट्रीय साझेदारी इसकी अच्छी मिसाल है जिसका नेतृत्व डेन मैडसेन, सुमेर दत्ता और संजय लखोटिया के हाथों में है ।
औद्योगिक जरूरतों को परखते हुए रिटायरमेंट लिविंग वर्ल्ड इंडिया का आयोजन भारतीय तथा अंतरराष्ट्रीय डेवलपर्स, आपरेटर्स, निवेशकों और अन्य औद्योगिक भागीदारों के विशिष्ट पैनलों को एक मंच पर लाने के लिए किया जा रहा है ताकि इन चुनौतियों से निपटा जा सके और अवसरों की खोज की जा सके ।
इसमें हिस्सा लेने वाले भारत में वरिष्ठ नागरिकों के लिए आवासीय उद्योग के विकास एवं सफलता में सहयोग के लिए व्यापारिक रणनीतियों, बाजार के चलन, भागीदारी माडल, निवेश और वित्तीय अवसरों पर चर्चा करेंगे । इसके साथ ही पूरी दुनिया के प्रमुख वक्ताओं द्वारा सफल केस स्टडीज, पूर्व के कार्यों के सबक और बेहतरीन तौर-तरीकों की भी साझेदारी की जाएगी । ज्वलंत मुद्दों पर बहस और खुले मंच पर परिचर्चा भी आयोजित की जाएगी, मसलन रिटायरमेंट समुदाय विकसित करने तथा संचालित करने के दौरान विविध सांस्कृतिक मुद्दों पर कैसे बुद्धिमत्ता का परिचय दिया जाए ।
प्रमुख वक्ताओं में शामिल हैं : अंकुर गुप्ता, संयुक्त प्रबंध निदेशक, आशियाना हाउसिंग, मैथ्यू चेरियन, सीईओ, हेल्प एज इंडिया, ज्योफ हिपकिन्स, सीईओ, ओसिनिया ग्रुप, एल. ब्रैडफोर्ड पर्किन्स, अध्यक्ष एवं प्रमुख, पर्किन्स ईस्टमैन, संजय लखोटिया, निदेशक, अमोक्ष वन एट्टी, अतुर्व पटेल, निदेशक, आईडीएफसी प्राइवेट इक्विटी, रोजर डेविस, सीईओ, एमएचए, अचल श्रीधरन, प्रबंध निदेशक, कोवेई प्रापर्टी, डा. शेलू श्रीनिवासन, संस्थापक एवं अध्यक्ष, डिग्निटी लाइफस्टाइल एवं कई अन्य ।
रिटायरमेंट लिविंग वर्ल्ड इंडिया 2011 में परस्पर सांस्कृतिक समझ एवं भागीदारी विकसित की जाएगी । इससे यह बात और पुष्ट हो जाएगी कि भारत का रिटायमेंट लिविंग उद्योग मजबूत हो रहा है और तेज कदम बढ़ाते हुए भारत अपने वरिष्ठ नागरिकों के जीवन स्तर में सुधार ला रहा है ।
आईएमएपीएसी के बारे में आईएमएपीएसी एक सामाजिक उद्यम है जिसका मुख्यालय सिंगापुर में है और यह सामाजिक हितकारी मुद्दों के लिए व्यापारिक सम्मेलनों का आयोजन करता है । आईएमएपीएसी सम्मेलन में हिस्सा लेने वाले प्रत्येक भागीदार के लिए आईएमएपीएसी सुनिश्चित करता है कि किसी विकासशील देश का कोई बच्चा एक वर्ष तक स्कूल जाने की सुविधा प्राप्त कर रहा है । अधिक जानकारी के लिए कृपया हमारी वेबसाइट देखें

http://www.imapac.com/index.php?page=retirementlivingworldindia2011


अधिक जानकारी के लिए कृपया संपर्क करें : हू शू टेलीफोन : 65 6493 2093 ईमेल : शू डाट एचयू एट आईएमएपीएसी डाट काम

स्रोत : आईएमएपीएसी प्राइवेट लिमिटेड पीआरन्यूजवायर- एशिया- एशियानेट : रंजन रंजन पीडब्ल्यूआर2 09270931 दि