आस्ट्रेलिया के नए अंतर्राष्ट्रीय पंचाट नियमों का खनन-दिग्गज ने समर्थन किया।

स्रोत: Australian Centre for International Commercial Arbitration -46117
श्रेणी: Metals and Mining
 
 
 
18/10/2011 1:02:04:130PM
 
 सिडनी, 31 अगस्त । मीडियानेट इंटरनेशनल – एशियानेट ।
बीएचपी बिलिटन में कानूनी विवाद विभाग के उपाध्यक्ष श्री डामियान लोवेल ने आज सीमापार और अंतर्राष्ट्रीय वाणिज्यिक विवादों का तेज गति से निपटारा करने के लिहाज से बनी नई एसीआईसीए पंचाट नियमों को प्रस्तुत किए जाना का स्वागत किया है। श्री लोवेल जो दुनिया की सबसे बडी विविधतापूर्ण खनन कंपनी के कानूनी विवादों का निपटारा करने की रणनीतियों की जिम्मेवारी संभालते हैं, ने कहा कि बीएचपी बिलिटन के लिए अपने सीमापार के अनुबंधों में विवाद निपटारा के अनुच्छेद को शामिल करना सामान्य अ5यास है । ‘‘हम अंतर्राष्ट्रीय पंचाटों को अपने वैश्विक विवाद निपटारा रणनीति का अविभाज्य अंग मानते हैं । हम इन नियमों को प्रस्तुत करने की एसीआईसीए की पहलकदमी की सराहना करते हैं जो इस रणनीति के अनुरूप है ।’’ बीएचपी विलिटन द्वारा इसका अनुमोदन किए जाने का स्वागत करते हुए एसीआईसीए के अध्यक्ष और क्लैटन यूटीजेड की बडी परियोजनाओं तथा अंतर्राष्ट्रीय पंचाटों के प्रमुख प्रोफेसर डौंग जोन्स एएम ने कहा कि सीमापार के विवादों का निपटारा करने की सेवा प्रदान करना अरबों डालर का वैश्विक व्यवसाय है और वैधानिक, नियामक और प्रक्रियागत सुधारों के बदौलत आस्ट्रेलिया वैश्विक व्यावसायिक विवादों का निपटारा करने के लिए एक आकषर्क स्थान है ।
‘‘आस्ट्रेलिया पहले दर्जे की किफायती पंचाट सेवाओं की बढती मांगों को पूरा करने में बेहतरीन स्थान है, विशेष रूप से एशिया प्रशांत क्षेत्र में ।’’ संशोधित अंतर्राष्ट्रीय पंचाट अधिनियम :1974: के अंतर्गत एसीआईसीए को इकलौता बकाया-वसूली अधिकारी के रूप में नियुक्त करने के आस्ट्रेलिया सरकार के फैसले का अनुसरण करते हुए एसीआईसीए पंचाट नियमों को प्रमुख पेशेवरों, नीति-निर्माताओं, अकादमिक हस्तियों और व्यावसायिक नेताओं के साथ गहन विचार-विमर्श के बाद अद्यतन बनाया गया है।
इन नियमों में अब आपातकालीन पंचाटकर्ता प्रावधानों को शामिल किया गया है जो आस्ट्रेलिया की किसी पंचाटकर्ता संगठन में पहली बार हुआ है ।
एसीआईसीए नियमावली समिति के अध्यक्ष माल्कॉम होम्स क्यूसी ने कहा कि इस प्रावधान से उच्चतर लचीलापन प्राप्त होगा जिसमें पंचाट समिमि के गठन के पहले आपातकालीन पंचाटकर्ता से अंतरिम राहत उपायों की मांग करना भी शामिल है । ‘‘अंतर्राष्ट्रीय व्यावसायिक समुदाय द्वारा जिन चिंताओं की अभिव्यक्ति हुई है, उनमें से एक संरक्षण के उपाय प्रदान करने के लिए पंचाट की आवश्यकता होने के बारे में है । किसी विवाद में एक पक्ष को इसे सुनिश्चित करने की आवश्यकता हो सकती है कि विवाद की सुनवाई होने के पहले दूसरे पक्ष को किन्हीं गतिविधियों को करने से रोका जाए ।
उदाहरण के लिए, एक पक्ष दूसरे पक्ष को साक्ष्यों को नश्ट करने से रोकने की मांग कर सकता है या वह इसे सुनिश्चित करने की अभिलाषा कर सकता है कि दूसरा पक्ष जारी अनुबंध के अनुसार अपनी जिम्मेवारियों को लगातार निभाना जारी रखे ।’’ आस्ट्रेलियन इंटरनेशनल डिसप्यूट सेंटर :www.disputescentre.com.au)का एक प्रमुख साझीदार और हेग स्थित स्थाई पंचाट अदालत समेत पचास से अधिक वैश्विक पंचाटकारी संगठनों के साथ संपन्न अनुबंधों का एक हस्ताक्षरकर्ता एसीआईसीए ने पंचाट नियमावली 2011 की नियुक्ति-प्रक्रिया को भी विकसित किया है जो एक कारगर प्रक्रिया को स्थापित करती है जिसके माध्यम से कोई भी पक्ष किसी विवाद के निपटारे के लिए आस्ट्रेलिया में पंचाट को नियुक्त करने के लिए आवेदन कर सकता है। नियुक्ति-प्रक्रिया की देखरेख आस्ट्रेलिया के आटर्नी-जेनरल, उच्च न्यायालय और संघीय न्यायालय के मुख्य-न्यायाधीशों, आस्ट्रेलिया के वकील संघ के अध्यक्ष,आस्ट्रेलिया कानूनी परिषद के अध्यक्ष के प्रतिनिधियों और उद्योग जगत के प्रतिनिधियों की समिति करेगी ।
एसीआईसीए वैश्विक वित्तीय केन्द्रों में आलोखों को प्रस्तुत करके अगले महीने नए पंचाट कानूनों को प्रचारित करेगा जिसमें ज्यूरिख, न्यूयार्क और शंघाई शामिल हैं ।
संपर्क :- गियाना टोटारो एसीआईसीए
मीडिया संबंध 61 :0:438 337 328 जीटोटारो :एैट: एसीआईसीए डाट ओआरजी डाट एयू
स्रोत :- आस्ट्रेलियन सेंटर फार इंटरनेशनल कमर्सियल आर्ब्रिटेशन एशियानेट