कांफ्रेंस एक कोलंबो संयुक्त राष्ट्र संघ के भ्रष्टाचार विरोधी समागम के सदस्य राष्ट्रों का सम्मेलन मोरक्कों में अक्टूबर 2011 में होगा

स्रोत: Consultants 21 Asianet 46818
श्रेणी: Business and Finance
 
 
 
22/10/2011 1:42:43:120AM
 
कांफ्रेंस एक कोलंबो संयुक्त राष्ट्र संघ के भ्रष्टाचार विरोधी समागम के सदस्य राष्ट्रों का सम्मेलन मोरक्कों में अक्टूबर 2011 में होगा
कोलंबो, श्रीलंका । 18 अक्टूबर, 2011 । पीआर न्यूजवायर -एशिया – एशियानेट।
भ्रष्टाचार-विरोधी प्राधिकारों के अंतर्राष्ट्रीय संगठन के सदस्य और लेखक निहाल श्री अमेरेसेकेरे, एफसी, एफसीएमए, सीएमए, सीएफई ने भ्रष्टाचार, धोखाधडी, आर्थिक अपराध, सुशासन, कानून का राज के बारे में वास्तविक मामलों के अध्ययन पर आधारित अपनी ताजा पुस्तक का लोकार्पण किया है ।
1. धोखाधडी और भ्रष्टाचार का निरोध -चितांजनक परिघटना, महज बयानबाजी पर निर्भर होने से भ्रष्टाचार निरोधक संयुक्त राष्ट्र समागम :यूएनसीएसी: के लिए विनाशक’’ -यूएनसीएसी के अंतर्गत वचनबद्धताओं के खोखलेपन का पर्दाफाश करता है और स्थापित करता है कि विशालकाय भ्रष्टाचार दयनीय गरीबों को विपन्नता की ओर धकेलकर मानवता के खिलाफ अपराध करता है ।
2. ‘‘आपराधिक मानसिकता उजागर -विकृत आवरण’’-कोलंबो के हिल्टन होटल के निर्माण में हुई धोखाधडी के आकटय प्रमाण के पर्दाफाश का जोरदार सदमा।
3. ‘‘संदेहास्पद सौदा’ – कैसी विडंबना एक्स – आईएमएफ, विश्वबैंक और एडीबी द्वारा प्रोत्साहित गैरकानूनी निजीकरण का नाटकीय पर्दाफाश ।
इस अप्रैल से निम्नलिखित पुस्तकों का लोकार्पण हुआ है :- 4. वित्तीय कु-प्रबंधन और सार्वजनिक उत्तरदायित्व का अभाव – श्रीलंका के मामलों का एक अध्ययन जो आईएमएफ, विश्वबैंक और एडीबी के कार्यक्षेत्र के दायरे में शामिल देश है । पारदर्शिता और सार्वजनिक उत्तरदायित्व का निर्लज्ज अतिक्रमण जिसमें संवैधानिक अधिदेशों, सामाजिक अनुबंधों, कानून के राज और न्यायपालिका के उदाहर दिए गए हैं ।
5. सिटीबैंक, स्टैंडर्ड चाटर्ड बैंक, देउत्सचे बैंक द्वारा सिलोन पेट्रोलियम कारपोरेशन के साथ व्यूत्पत्ति और प्रतिरक्षण का सौदा -संदेहास्पद और गैरकानूनी -परिष्कृत छद्मआवरण में छिपे उपकरणों का विद्वतापूर्ण विश्लेषण जो कानूनों के असमान कार्यान्वयन, अदालत की अवमानना और न्यायिक दुर्भावनाओं के मसलों भी उठाता है ।
6. ‘‘कोलंबो हिल्टन होटल का निर्माण – श्रीलंका सरकार के साथ धोखाधडी -कानून के क्षेत्र में श्रीलंका का पहला विचलन,’’-जिसमें मित्सुई व ताइसेई आर्*टेक्टस, योजो शिबाटा एसोसिएटस के साथ आडिटर के रूप में केपीएमजी फोर्ड रोडस थोर्नटन शामिल हैं । 7. ‘‘प्राइसवाटरहाउसकूपर्स और अर्नेस्ट व यंग द्वारा श्रीलंका का बीमा निजीकरण – अवैधानिक और गैर कानूनी करार’’-कारपोरेट आर्थिक अपराधों का पर्दाफाश करता है जिसमें एईकेन स्पेन्स, डिस्टिलरीज, सीटी स्मीथ, गिब्राल्टर कंपनी शामिल हैं और चैंबर आफ कामर्स तथा चाटर्ड एकाउंटस इंस्टीच्यूट द्वारा संदेहजनक ढंग से कानून का कार्यान्वयन नहीं किया गया। इस निजीकरण को आईएमएफ, विश्वबैंक और एडीबी ने प्रोत्साहित किया था । 8. ‘‘कोलंबो पोर्ट बंकरिंग निजीकरण – गैरकानूनी और फर्जीवाडे के रूप में निरस्त’’ -इसमें यूएन ग्लोबल कंपैक्ट कंपनी, जान कील्स के साथ दोषमुक्त करने वाले सूप्रीम कोर्ट के छह न्यायाधीशों का निर्णय जो लज्जाजनक ढंग से पर्दाफाश करता है कि निर्णय के हिस्से का जानबूझकर गलत इस्तेमाल किया गया और निर्णय के असहमति वाले हिस्से को दबा दिया गया। इस निजीकरण को आईएमएफ,विश्वबैंक और एडीबी ने प्रोत्साहित किया था । 9. ‘‘श्रीलंका में वृक्षारोपण में लूट’’ – सार्वजनिक संपत्ति के जबरदस्त लूटपाट और घपले का पर्दाफाश करता है । इस निजीकरण को आईएमएफ, विश्वबैंक और एडीबी ने प्रोत्साहित किया था ।
सभी पुस्तकें प्रकाशक आथर्सहाउस यूएस व यूके के पास उपलब्ध हैं ।
 www.authorhouse.com, www.authorhouse.co.uk, और अंतराष्ट्रीय स्तर पर अग्रणी ई-खूदरा विक्रेताओं से हासिल किया जा सकता है ।
अधिक जानकारी :- www.consultants21.com/publications
स्रोत :- कंसल्टेंटस 21 :पब्लिकेशन्स: लिमिटेड
एशियानेट : अमरनाथ रंजन पीडब्ल्यूआर1 10211249 दि